लंदन. भारत के आर्थिक भगौड़े विजय माल्या को लंदन कोर्ट ने भारत प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने की इजाजत दे दी है. लंदन स्थित ब्रिटिश हाई कोर्ट में मंगलवार को हुई सुनवाई के दौरान विजय माल्या को प्रत्यर्पण के विरुद्ध अपील करने की अनुमति मिल गई है. कोर्ट के इस फैसले से विजय माल्या के भारत प्रत्यर्पण के ऊपर संकट के बादल मंडरा सकते हैं. शराब कारोबारी विजय माल्या के ऊपर भारत में कथित रूप से 9,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग का मामला चल रहा है. विजय माल्या ने ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद द्वारा उसके प्रत्यर्पण के आदेश पर हस्ताक्षर करने के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील करने की अनुमति मांगी थी. इससे पहले 5 अप्रैल को किंगफिशर एयरलाइंस के पूर्व प्रमुख 63 वर्षीय विजय माल्या के भारत प्रत्यार्पित होने के खिलाफ दायर याचिका खारिज कर दी गई थी. माल्या ने कोर्ट से गुजारिश की थी उसे भारत प्रत्यर्पित न किया जाए. लंदन कोर्ट में माल्या के मामले पर दो जजों कीं बेंच ने मंगलवार को सुनवाई की.

विजय माल्या ने कोर्ट में मौखिक सुनवाई के लिए आवेदन किया था. कोर्ट ने इस मामले पर 4 घंटे की सुनवाई का समय दिया. माल्या ने कोर्ट में उनके भारत प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने की इजाजत मांगी थी. जिसके बाद कोर्ट से इजाजत दे दी गई. मंगलवार को लंदन कोर्ट के जज लिगेट और पॉपलिवेल ने इस मामले पर सुनवाई की.

मंगलवार को सुनवाई से पहले कोर्ट पहुंचे विजय माल्या ने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि इस सुनवाई को लेकर उनका रूख सकारात्मक है. इस केस में  हमारे पास कानूनी तौर पर लड़ने का विकल्प है. माल्या ने बताया कि यदि उन्हें भारत भेजा जाएगा तो वे जरूर आएंगे लेकिन उससे पहले वह सभी तरह के कानूनी टर्म के जरिए खुद के हित की रक्षा करने की कोशिश करेंगे. माल्या ने बताया कि वह हर स्थिति के लिए तैयार है.

Nitish Govt Reply to SC Admits Bihar Medical Services in ICU: मुजफ्फरपुर चमकी एईएस बुखार से मौत पर सुप्रीम कोर्ट में नीतीश सरकार का जवाब एक कबूलनामा- आईसीयू में है बिहार मेडिकल सर्विस, इलाज कैसे हो जब डॉक्टरों के 47 और नर्स के 71 परसेंट पद खाली

TMC MP Nusrat Jahan Jagannath Rath Yatra : मांग में सिंदूर और हाथों में चूड़ा पहनकर शपथ लेने वाली टीएमसी सांसद नुसरत जहां को जगन्नाथ रथयात्रा में बतौर चीफ गेस्ट आने का न्यौता

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App