नई दिल्लीः राजस्थान के जैसलमेर स्थित पोखरण फायरिंग रेंज में भारतीय वायु सेना के सबसे बड़े युद्धाभ्यास वायु शक्ति 2019 की शुरुआत हो चुकी है. बीते गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए हमले को देखते हुए भारतीय वायु सेना के इस युद्धाभ्यास को काफी अहम माना जा रहा है. 16 से 19 फरवरी तक चलने वाले इस युद्धाभ्यास में भारतीय वायु सेना शक्ति प्रदर्शन करेगी और अपने अस्त्र-शस्त्रों से दुनिया को रूबरू कराएगी. इसमें आकाश से आकाश में वार करने वाले शस्त्रों के साथ ही जमीन से वायु में हमला करने वाले शस्त्रों का प्रदर्शन होगा. इस युद्ध अभ्यास को देखकर दुश्मन देशों में खौफ पैदा हो गया है.

वायु शक्ति 2019 में भारतीय वायु सेना के प्रमुख बीएस धनोआ और पूर्व क्रिकेटर एवं राज्यसभा सांसद सचिन तेंदुलकर भी मौजूद थे. वहीं रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण इस युद्धाभ्यास समारोह की चीफ गेस्ट हैं. शनिवार को शाम 5:35 बजे इस युद्धाभ्यास की शुरुआत हुई.

मालूम हो कि भारतीय वायु सेना चार दिनों तक चलने वाले इस युद्धाभ्यास में करीब 140 लड़ाकू विमान और हेलिकॉप्टर्स के जरिये रियल टाइम में टारगेट को ध्वस्त करेगी. इस दौरान पूरी दुनिया में भारतीय वायु सेना का परचम लहराएगा. हर तीसरे साल इस युद्धाभ्यास का आयोजन होता है.

इस अभ्यास में जीपीएस और लेजर गाइडेड बमों के साथ ही मिसाइलों, रॉकेट लॉन्चरों और विमान से चलाए जाने वाले मशीन गनों से टारगेट को ध्वस्त किया जाएगा. इस युद्धाभ्यास में स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस का प्रदर्शन भी देखने को मिलेगा.

वायु शक्ति 2019 में सुखोई-30, मिग-21 बाइसन, मिग-29, मिग-27, मिराज-2000 और जगुआर जैसे 90 से ज्यादा लड़ाकु विमानों की प्रदर्शनी होगी और ये विमान फायरिंग रेंज में बनाए गए टारगेट को ध्वस्त करेंगे. इस युद्धाभ्यास को देखने सैकड़ों लोग पोखरण फायरिंग रेंज में मौजूद हैं.

Pulwama Terror attack: राजस्थान में सरकारी स्कूल प्रिंसिपल की पुलवामा में शहीद CRPF जवानों पर अभद्र टिप्पणी, गिरफ्तार

Weekly Horoscope 18 to 24 February 2019: साप्‍ताहिक राशिफल 18 से 24 फरवरी 2019, इस सप्ताह तीन राशियों के लोगों की खुलेगी किस्मत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App