लखनऊ. इंटरनेशनल महिला शूटर वर्तिका सिंह ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को खून से एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने कहा कि निर्भया बलात्कार हत्या मामले में दोषी ठहराए गए चार लोगों को एक महिला द्वारा मार दिया जाना चाहिए. इसके साथ ही आगे उन्होंने कहा कि निर्भया मामले के दोषियों को फांसी मेरे द्वारा दी जानी चाहिए. यह पूरे देश में एक संदेश देगा कि एक महिला भी फांसी का दे सकती है. मैं चाहती हूं कि महिला एक्ट्रेस सांसद मेरा समर्थन करें और मुझे उम्मीद है कि इससे समाज में बदलाव आएगा.

इस बीच गुरुवार को निर्भया की मां ने कहा कि उन्होंने सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार से दोषियों को तुरंत फांसी देने की अपील की है. आशा देवी ने बताया सुप्रीम कोर्ट ने उनकी सजा की याचिका खारिज होने के 18 महीने बाद आदेश दिया है. इसके अलावा, सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका (पीआईएल) दायर की गई है, जिसमें एक महीने के भीतर समीक्षा याचिका के निपटाने की मांग की गई है.

इसने निर्भया परिवार की फांसी को देखने के लिए याचिका भी दायर की और उच्चतम न्यायालय से बलात्कार और बाल संरक्षण से बच्चों के संरक्षण (POCSO) मामलों में छह महीने के भीतर फास्ट ट्रैक कोर्ट में पुलिस जांच और मुकदमे दोनों को पूरा करने के लिए विशिष्ट दिशानिर्देशों को लागू करने की मांग की है.

दिल्ली में साल 2012 में 16 दिसंबर को निर्भया के साथ छह लोगों द्वारा चलती बस के अंदर सामूहिक बलात्कार किया गया था. पीड़िता के साथ उसके मित्र को भी बुरी तरह से पीटा गया था. बाद में दोनों को सड़क पर फेंक दिया गया और कुछ दिनों बाद पीडिता ने दम तोड़ दिया.

छह दोषियों में से एक ने जेल में आत्महत्या कर ली, जबकि एक अन्य, एक नाबालिग को सुधार गृह में तीन साल की सजा काटने के बाद साल 2015 में रिहा कर दिया गया था. अन्य चार अपराधी तिहाड़ जेल में बंद हैं, निर्भया बलात्कार के दोषियों की फांसी की बढ़ती मांगों के बीच तिहाड़ जेल ने किसी भी निर्धारित निष्पादन के लिए यूपी के दो जल्लादों को बुलाया है.

ये भी पढ़ें

Nirbhaya Case: निर्भया कांड के गुनहगारों को सताने लगा फांसी का डर, डिप्रेशन में आकर खाना-पीना कम कर दिया

Nirbhaya Rape Accused Submits Review Petition: निर्भया रेप और हत्या के गुनाहगार अक्षय ठाकुर ने फांसी के खिलाफ पुनर्विचार याचिका में दिए अजीब तर्क- प्रदूषण से लेकर वेद का जिक्र

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर