Uttrakhand Elections

उत्तराखंड. Uttrakhand Elections उत्तराखंड में विधासभा चुनाव से पहले जहां एकओर पार्टी में टिकट को लेकर सियासी हलचल तेज है, तो वही दूसरे ओर सूबे के पूर्व सीएम और बीजेपी के बड़े नेता त्रिवेंद्र सिंह रावत ने चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया है. उन्होंने इस सदर्भ में बीजेपी के पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा को एक पत्र लिखा और इस बार चुनाव ना लड़ने की इच्छा जाहिर की है.

प्रचारक से मुख्‍यमंत्री तक का सफर

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने पत्र में लिखा कि कृपया उत्तराखंड चुनाव नहीं लड़ने के मेरे अनुरोध को स्वीकार करें ताकि मैं पार्टी को आगामी विधानसभा चुनावो में
समर्थन करने पर ध्यान केंद्रित कर सकूं. बता दें पूर्व सीएम रावत उत्तराखंड की डोईवाला सीट से तीन बार विधायक रह चुके है. उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत साल 2002 में की, जिसके बाद वे पार्टी के अनेक पद पर कार्य करते हुए मुख्यमंत्री पद तक पहुंचे।

1979 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े
1985 में वह देहरादून महानगर के प्रचारक बने
1993 में त्रिवेन्द्र रावत बीजेपी के क्षेत्रीय संगठन मंत्री बनाए गए
1997 में वह बीजेपी के प्रदेश संगठन महामंत्री बने
2002 में फ‍िर वह भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री बने

उत्तराखंड में आगामी विधासभा चुनाव के लिए 14 फ़रवरी को एक ही चरणों में सभी 70 सीटों पर वोट डाले जाने है, जिसके बाद चुनाव का परिणाम 10 मार्च को घोषित होने है.

यह भी पढ़ें:

UP Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, 125 प्रत्याशियों में से 50 महिलाएं

Resignation Continues in BJP : भाजपा में इस्तीफों का दौर जारी, शिकोहाबाद से विधायक ने भी छोड़ी पार्टी

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर