UPSC Exam 2021:

नई दिल्ली, कोरोना वायरस से संक्रमित होने की वजह से पिछले महीने आयोजित हुई संघ लोक सेवा आयोग (UPSC Exam 2021) की मुख्य परीक्षा में सम्मिलित नहीं हो सके तीन अभ्यर्थियों ने सुप्रीम कोर्ट का दरावाजा खटखटाते हुए मदद मांगी है. तीनों अभ्यर्थियों की मांग है कि उच्चतम न्यायालय या तो उन्हें और परीक्षा में बैठने का अवसर दे या फिर इस परीक्षा के परिणाम आने से पहले किसी तरह उनकी परीक्षा की व्यवस्था करे।

7 मार्च को सुप्रीम कोर्ट करेगा सुनवाई

शीर्ष अदालत में याचिका दायर कर परीक्षा की मांग कर रहे तीन याचिकाकर्ताओं में से दो कोविड की वजह से शुरूआती दो पेपर में सम्मिलित नहीं हो सके थे. वहीं तीसरा याचिकाकर्ता किसी भी परीक्षा में सम्मिलित नहीं हो सका था. सोमवार को इन तीनों की याचिका पर जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस सीटी रविकुमार की पीठ ने सुनवाई की और याचिकाकर्ता के वकील गोपाल शंकर नारायण से याचिका के प्रति संबंधित प्रतिवादियों को देने के लिए कहा. इसके बाद पीठ ने मामले के सुनवाई को सात मार्च के लिए स्थगित कर दिया।

अभ्यर्थियों के अधिकारों का न हो हनन- शंकरनारायण

याचिकाकर्ताओं के वकील शंकर नारायण ने पीठ के सामने कहा कि मेरे मुव्वकिलों ने अपने कोविड संक्रमित होने के सच को बताते हुए परीक्षा में सम्मिलित नहीं हुए. वे झूठ बोलकर पेपर दे सकते थे लेकिन उन्होंने दूसरे अभ्यर्थियों की सुरक्षा का ध्यान रखा, इसीलिए पीठ उनके अधिकारों का हनन न होने दे और परीक्षा देने का अतिरिक्त मौका दे।

 

यह भी पढ़ें:

Omicron: ओमिक्रॉन पर सख्त केंद्र सरकार ने 31 दिसंबर तक बढ़ाई मौजूदा कोविड गाइडलाइन्स

Drink Decoction to Increase Immunity इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए पिएं काढ़ा

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर