नई दिल्ली. दीपावली के दिन पटाखे छोड़ने की परंपरा कहें या शौक से पैसे की बर्बादी के चलन पर शिकंजा कसने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर देशभर में अमल करने की कोशिशों के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी शासनादेश जारी किया है, जिसमें साफ तौर कहा गया है कि यूपी में दीवाली के दिन लोग केवल दो घंटे ही पटाखे फोड़  सकेंगे. ज्यादा शोर मचाने और प्रदूषण फैलाने वाले पटाखों की जगह कम आवाज वाले पटाखे और फुलझड़ी जलाने की इजाजत दी गई है.

शाम 8 बजे से 10 बजे तक ही पटाखे  जलाने के लिए आदेश जारी किया गया है. यूपी सरकार ने प्रदेश के सभी मंडलायुक्त, जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों को निर्देश जारी किया है कि वह दीवाली के दिन पटाखे जलाने से जुड़े आदेश पर अमल करने के लिए हरसंभव कोशिश करें. यूपी सरकार ने 23 अक्टूबर 2018 के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुपालन में यह आदेश जारी किया है.

मालूम हो कि दिल्ली सरकार ने दीपावली के दिन दिल्ली में सिर्फ अनार और फुलझड़ी छोड़ने की ही इजाजत दी है. हालांकि दिल्ली में पटाखों की बिक्री पर पाबंदी लगी हुई है और सिर्फ दिल्ली सरकार द्वारा प्रमाणित दुकानों पर ही पटाखों की बिक्री होगी और सिर्फ क्यूआर कोड और दिल्ली सरकार के स्टांप लगे पटाखों की ही बिक्री होगी. दिल्ली की तर्ज पर ही अब यूपी के बाजारों में भी ग्रीन पटाखे की बिक्री पर जोर देने की बात कही जा रही है. हालांकि यूपी सरकार की एडवायजरी में साफ तौर पर जिक्र नहीं किया गया है कि किस-किस तरह के पटाखे बैन किए गए हैं.

ये भी पढ़ें Read Also

Supreme Court Delhi Diwali Crackers Ban: सुप्रीम कोर्ट दिवाली गाइडलाइंस, दिल्ली में सरकारी स्टांप QR कोड वाले अनार, फूलझड़ी के अलावा शोर मचाने वाले बम-पटाखे बैन

Odd Even Rule in Delhi: प्रदूषण से निपटने के लिए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल का ऐलान, 4 से 15 नवंबर तक राजधानी में दोबारा लागू होगा ऑड ईवन फार्मूला

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App