लखनऊ. UP CM Yogi Adityanath On Sonbhadra Land Dispute Incident: उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोनभद्र जिले में जमीन विवाद को लेकर दो गुटों के बीच हुए भीषण नरसंहार पर बड़ा बयान दिया है. शुक्रवार को उन्होंने यूपी विधानसभा में कहा कि यूपी सरकार दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलाएगी. साथ ही उन्होंने सोनभद्र में जमीन विवाद को लेकर 10 लोगों की हत्या किए जाने के मामले की जांच के लिए 3 सदस्यीय कमिटी का भी गठन किया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी सरकार इस मामले में पीड़ितों आदिवासियों को न्याय दिलाएगी. वहीं पीड़ितों से मिलने जा रही पूर्वी यूपी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को शुक्रवार को सोनभद्र जाने से पहले पुलिस ने मिर्जापुर में हिरासत में ले लिया. इससे पहले प्रियंका शुक्रवार सुबह जमीन विवाद में घायल लोगों से मिलने वाराणसी पहुंचीं. प्रियंका गांधी ने पीड़ितों को न्याय दिलाने का वादा किया.

प्रियंका गांधी को हिरासत में लेने के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने नाराजगी जताते हुए कहा कि गैर कानूनी तरीके से प्रियंका को यूपी पुलिस ने अरेस्ट किया है. राहुल गांधी ने कहा कि योगी आदित्यनाथ सरकार अपनी शक्ति का दुरुपयोग कर रही है. इससे साबित होता है कि यूपी सरकार प्रदेश में असुरक्षा को बढ़ावा दे रही है. वहीं यूपी के एक शीर्ष पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रियंका गांधी वाड्रा को हिरासत में नहीं लिया गया था.

इससे पहले गुरुवार को सोनभद्र हत्याकांड के मुख्य आरोपी प्रधान यज्ञदत्त को गिरफ्तार कर लिया गया. सोनभद्र हत्याकांड को लेकर अब तक प्रधान यज्ञदत्त के भाई और भतीजे समेत 26 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. सोनभद्र नरसंहार मामले में 50 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

योगी आदित्यनाथ ने सोनभद्र जिले में हुए इस नरसंहार पर दुख जताया और कहा कि ग्राम पंचायत की जमीन गलत तरीके से आबंटित किया गया. उन्होंने इस मामले में जिला अधिकारी को सस्पेंड कर दिया. मालूम हो कि बीते बुधवार को जमीन विवाद उस समय काफी हिंसक हो गया, जब प्रधान यज्ञदत्त गुर्जर करीब 200 लोगों को 32 ट्रैक्टर पर सवार कर एक विवादित जमीन की जोताई के लिए पहुंचा.

दावा किया गया कि प्रधान ने दो साल पहले घोरावल तहसील के उम्भा गांव में 100 बीघा जमीन खरीदी थी और वह उसपर कब्जा जमाने आया है. इसके बाद दूसरे गुट के लोगों ने इसका विरोध किया, जिसके बाद प्रधान के लोगों ने दूसरे पक्ष के लोगों परलाठी डंडों और फावड़ों से हमला कर दिया. दूसरे पक्ष के लोगों ने भी पथराव किया. इस घटना में गोंड आदिवासी समुह के 10 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए.

उल्लेखनीय है कि सोनभद्र नरसंहार की घटना के बाद यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर आ गई हैं और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर भी बीजेपी सरकार पर लगातार हमले हो रहे हैं. बीते दिनों कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा था कि भाजपा राज में अपराधियों के हौसले इतने बढ़ गए हैं कि दिन-दहाड़े हत्याओं का दौर जारी है. सोनभद्र के उम्भा गांव में भू माफियाओं द्वारा 3 महिलाओं समेत 9 गोंड आदिवासियों की सरेआम हत्या ने दिल दहला दिया. प्रशासन-प्रदेश मुखिया-मंत्री सब सो रहे हैं. क्या ऐसे बनेगा अपराध मुक्त प्रदेश?

Flood Situation In Assam Bihar MP UP West Bengal: बिहार, असम, मध्य प्रदेश, यूपी समेत कई राज्यों में भारी बारिश के बाद नदियों का जलस्तर बढ़ने से बाढ़, फोटो-वीडियो में देखें भयावह स्थिति

मिर्जापुर में बोले पीएम मोदी, किसानों के लिए घड़ियाली आंसू बहाने वालों को अधूरी परियोेजनाएं क्यों नहीं दिखीं?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App