नई दिल्ली: उड़ान योजना पूरी तहर से रीजनल कनेक्टीविटी स्कीम (RCS) यानी कि क्षेत्रीय संपर्क योजना पर आधारित है. उड़ान योजना के जरिये मध्यम वर्गीय लोग भी हवाई यात्रा कर सकेंगे. यात्री को एक घंटे की उड़ान के लिए 2500 रुपये खर्च करने होंगे. 500 किमी तक के सफर का किराया 2500 रुपये रखा गया है.

उड़ान योजना को 21 अक्टूबर 2016 में लॉन्च किया गया था, लेकिन योजना की शुरुआत 27 अप्रैल 2017 को शिमला में हुई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शिमला से दिल्ली की पहली फ्लाइट का उद्घाटन किया था. इस योजना का शुभारंभ करते वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि वह चाहते हैं कि हवाई चप्पल पहने हुए आम आदमी भी हवाई सफर कर सके. इसी को साकार करने के लिए पीएम मोदी ने शिमला में सस्ती उड़ान सेवा की शुरुआत की.

 

UDAN YOJANA उड़ान योजना की मुख्य बातें

  • उड़ान योजना के अंतर्गत 78 हवाई अड्डों और 31 हैलीपैड को जोड़ने का प्रस्ताव रखा गया. इतना ही नहीं इसके साथ ही 325 और मार्ग जोड़े जाएंगे.
  • उड़ान योजना का मकसद अप्रूव्ड और नॉन अप्रूव्ड हवाई अड्डों को हवाई संपर्क उपलब्ध कराना है.
  • उड़ान योजना के तहत करीब 43 शहरों को हवाई सेवा के जरिए जोड़ा जाएगा, साथ ही 12 हवाई अड्डों को भी फ्लाइट कनेक्टिविटी से जोड़ा जाएगा, जिनपर फ्लाइट का
    संचालन नहीं है. साथ ही उड़ान योजना का उद्देश्य देश के 70 हवाई अड्डों को आपस में जोड़ना है.
  • मणिपुर, असम और हिमाचल प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश और हिमाचल प्रदेश को हैलीपेड कनेक्टिविटी से जोड़ा जाएगा. योजना के शुरुआती रूप में शिमला-दिल्ली, कडप्पा-हैदराबाद और नांदेड़- हैदराबाद के बीच हवाई सेवा शुरू की गई है.
  • उड़ान योजना का उद्देश्य साल 2022 तक 80 लाख से 3 करोड़ रुपये की टिकट की मात्रा को बढ़ाना है.
  • मोदी सरकार ने 1 घंटे के हवाई सफर के लिए 2500 रुपये निर्धारित किए हैं. उड़ान
  • योजना में फिलहाल 5 एयरलाइंस शामिल हैं, जिनमें स्पाइसजेट, टर्बो मेघा, एयर ओड़िसा, अलाएन्स एयर और एयर डेक्कन शामिल हैं.
  • ये एयरलाइंस 19-78 सीटों वाले विमानों को उड़ाएंगी. उड़ान योजना 10 वर्षों के लिए कार्यरत होगी.
  • उड़ान योजना का लाभ उठा रहे ग्रहाकों को किसी तरह के चार्जेस जैसे- पार्किंग चार्ज, लैंडिग चार्ज, नैविगेशन चार्ज आदि.
  • देश में 394 हवाई अड्डे ऐसे हैं, जहां पर विमान सेवा आयोजित नहीं की जाती है. इन हवाई अड्डों को फिर से खोला जाएगा. इसके लिए सरकार ने 4000
    करोड़ रुपये का बजट भी पेश किया है.

उड़ान योजना के चलते देश में व्यापार, वाणिज्य और पर्यटन क्षेत्र में विस्तार होगा. उड़ान योजना बाजार आधारित तंत्र के माध्यम से क्षेत्रीय
कनेक्टिविटी को बढ़ावा देगी. मोदी सरकार का मानना है कि उड़ान सेवा शुरू होने से आम जनता ट्रेन में सफर करने के बजाय हवाई जहाज में सफर करना पसंद करेगी.

USTTAD YOJNA scheme in india: मोदी सरकार की उस्ताद योजना के क्या हैं फायदे, बुनकर और हस्तशिल्पकार कैसे उठा सकते हैं फायदा?

Deen Dayal Upadhyaya Gram Jyoti Yojana DDU GJY: क्या है दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना, कैसे उठा सकते हैं इसका लाभ, पढ़ें DDU GJY के बारे में पूरी जानकारी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App