नई दिल्लीः दुनिया के कई देशों में कैब सर्विस मुहैया कराने वाली कंपनी उबर के टॉप अधिकारियों ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. कंपनी के अधिकारियों ने पीएम मोदी को अपनी उबर एलिवेट सेवा के तहत भविष्य की हवाई टैक्सी सेवा पर प्रेजेन्टेशन दी. कंपनी ने बताया कि भविष्य में इस सेवा के जरिए ट्रैफिक और प्रदूषण की समस्या को कैसे जड़ से खत्म किया जा सकता है. उबर ने खुद इसकी जानकारी दी है.

कंपनी ने बयान जारी कर बताया कि उबर एविएशन के सीईओ एरिक एलिसन और उत्पाद प्रमुख (एविएशन) निखिल गोयल ने शुक्रवार को आयोजित किए गए वैश्विक मोबिलिटी शिखर सम्मेलन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी को हवाई टैक्सी सेवा के बारे में जानकारी दी और बताया कि कैसे इस सेवा की मदद से भविष्य में प्रदूषण और ट्रैफिक की समस्या को कम करके बहु-आयामी मोबिलिटी प्लेटफॉर्म तैयार किया जा सकता है.

इसके साथ ही यह सेवा अर्थव्यवस्था में भी योगदान कर सकती है. एरिक एलिसन ने कहा कि उबर भविष्य की हवाई सेवा क्षेत्र में देश ही नहीं बल्कि दुनिया में रोमांच ला सकता है. उन्होंने कहा, ‘उबर भारत को तरक्की की राह पर आगे बढ़ाने के लिए इस मिशन में सरकार के साथ मिलकर काम करने के लिए प्रतिबद्ध है. मैं भारत में होने और दुनिया के दूरदर्शी नेताओं में से एक पीएम नरेंद्र मोदी के साथ शहरी मोबिलिटी (हवाई टैक्सी सेवा) के भविष्य पर बातचीत करके बहुत उत्साहित हूं.’

बताते चलें कि उबर अपनी हवाई टैक्सी सेवा के लिए पांच वैश्विक देशों में भारत को भी शामिल करने का विचार कर रहा है. यह पांच देश हैं- जापान, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, फ्रांस और भारत. कंपनी फिलहाल हवाई टैक्सी सेवा को अगले पांच साल में शुरू करने के लिए सभी देशों में नियामकों के साथ चर्चा कर रही है. गौरतलब है कि अगर केंद्र सरकार की तरफ से उबर के इस प्रोजेक्ट को मंजूरी मिलती है तो 2025 तक देश भर में हवाई टैक्सी सेवा शुरू हो जाएगी.

भारत में एयर टैक्सी शुरू करने की तैयारी में उबर, जाम के झाम से मिलेगा छुटकारा