लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को बुलंदशहर में भीड़ के हाथों मारे गए पुलिस इस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिजनों से मुलाकात की. राजधानी लखनऊ में सीएम योगी अपने आधिकारिक आवास पर सुबोध के परिजनों से मिले और अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त की. हालांकि सीएम योगी के मुलाकात के तरीके पर ट्विटर पर ट्विटरवार छिड़ हुआ है. कई लोगों का कहना है कि सूबे के मुखिया और एक संवेदनशील नेता होने के नाते योगी आदित्यनाथ को पीड़ित परिवार के घर जाकर मुलाकात करनी पड़नी चाहिए थी. वहीं दूसरी तरफ कई लोगों का कहना है कि योगी आदित्यनाथ राज्य के मुख्यमंत्री हैं. वो हर जगह नहीं जा सकते.

बताते चले कि बुलंदशहर में सोमवार को कथित गोकशी के मामले पर उग्र हुई भीड़ के हाथों पुलिस अधिकारी सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी गई थी. सुबोध कुमार के साथ-साथ इस घटना में सुमित नामक एक युवक की भी मौत हुई थी. इस मामले में पुलिस इस समय जांच कर रही है. वहीं सीएम की ओर से मृतक सुबोध के परिजन को 50 लाख रुपये के मुआवजे और एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दिए जाने का वायदा किया गया है.

योगी की आलोचना में किए गए ट्वीट-

योगी के समर्थन में ट्वीट-

बुलंदशहर में हुए इस घटना में पुलिस की जांच जारी है. हालांकि अभी कथित आरोपी योगेश राज की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है. उधर इस हमले के कई वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे हैं. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार यह हमला सुनियोजित था. इस घटना के दो दिन बीत चुके हैं. लेकिन घटनास्थल के आस-पास के गांवों में डर का माहौल अब भी बना हुआ है.

Bulandshahr Mob Violence: बुलंदशहर हिंसा पर यूपी पुलिस की रिपोर्ट- तनाव भड़काने की साजिश थी, दो दिन पुराना था गोकशी का टुकड़ा

Bulandshahr Mob Violence Video: सामने आया इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या से पहले का वीडियो, भीड़ चिल्लाई- मारो, मारो छीन लो इसकी बंदूक

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App