लखनऊ: पिछले दिनों उन्नाव में जमीन के नीचे 1000 टन सोना दबा होने की भविष्यवाणी करने वाले शोभन सरकार के गांव डौंडियाखेड़ा से कुछ दूर एक गांव में खुदाई के दौरान पुरानी मटकी में चांदी और तांबे के सिक्के मिलने से सनसनी फैल गई है. जानकारी के मुताबिक खुदाई के दौरान जैसे ही मटका मिला वैसे ही मजदूरों के बीच मटके में रखे चांदी और ताबे के सिक्कों को लेकर छीना-झपटी हो गई. जिन मजदूरों के हाथ में जितने सिक्के आए वो उसे लेकर काम छोड़कर भाग निकले. मामले की जानकारी पुलिस तक पहुंची तो आनन फानन में पुलिस टीम मौके पर पहुंची और कुछ सिक्कों को को बरामद कर कोषागार में जमा करा दिया.

बताया जा रहा है कि आसीवन थाना क्षेत्र के कन्हऊ गांव में पंचायत भवन के लिए नींव खोदी जा रही थी. मनरेगा स्कीम के तहत मजदूरों को खुदाई के लिए लगाया गया था. इस बीच खुदाई के दौरान जमीन के अंदर से मजदूरों को मिट्टी की एक मटकी मिली, जिसमें चांदी और पीली धातु के सिक्के भरे हुए थे. मटकी देखते ही मजदूर उसमें मौजूद सिक्कों को लूटने के लिए मटकी पर टूट पड़े. इस दौरान छपटमारी में मटकी टूट गई और सिक्के बिखर गए. फिर तो लूटमार ही मच गई. इस बीच किसी ग्रामीण ने सिक्के मिलने की सूचना आसीवन थाना पुलिस को दी. सूचना मिलते ही पुलिस ने मजदूरों के घरों पर छापा मारा और उन्हें पकड़कर सिक्के बरामद किए. जेल जाने के डर से मजदूरों ने सिक्के पुलिस को सौंप दिए.

बताया जा रहा है कि एक रुपए के चांदी के सिक्कों पर सन् 1910 अंकित है और सिक्कों पर किंग ऑफ इम्परर ईडीडब्लू दर्ज है. पुलिस ने बरामद सभी सिक्कों को तहसील सफीपुर के कोषागार में जमा करा दिया है. एसडीएम सफीपुर राजेन्द्र प्रसाद ने बताया कि चांदी के कुल 17 व तांबे के 287 सिक्के मिले हैं. पुलिस ने बरामद सिक्कों को सफीपुर तहसील के कोषागार में जमा कर दिया है.

Corona in Tirupati Temple: तिरुपति बालाजी में कोरोना विस्फोट, पुजारी समेत 743 कर्मचारी कोरोना संक्रमित, 3 की मौत

Sharad Purnima 2019: शरद पूर्णिमा की रात धरती पर आती हैं माता लक्ष्मी, ऐेसे करें पूजा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर