नई दिल्ली. कश्मीर घाटी में ट्रेन सेवाएं कल 12 नवंबर मंगलवार से शुरु हो जाएंग, प्रदेश में ट्रेन सेवाएं अनुच्छेद 370 के प्रावधानों के उल्लंघन के कारण 3 अगस्त से बाधित थीं. 5 अगस्त के बाद घाटी में ट्रेन सेवा पर प्रतिबंध लगा दिया गया था, जब केंद्र ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा दिया और इसे केंद्र शासित प्रदेशों में बदल दिया गया. उतर रेलवे के अधिकारी ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर द्वारा 10 बजे और 3 बजे के बीच कश्मीर घाटी में ट्रेन के सुरक्षित संचालन के संबंध में उचित कार्रवाई और आश्वासन के बाद, फिरोज़पुर डिवीजन नवंबर से श्रीनगर-बारामुला-श्रीनगर के बीच दो ट्रेनें चलाने की एक सीमित यात्री सेवा शुरू करेगा.

इस बात की जानकारी रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी ट्वीट करके दी है. गोयल ने ट्वीट करते हुए कहा कश्मीर घाटी में स्थिति के सामान्य होने पर रेल यातायात को कल से पुनः शुरू किया जा रहा है. इसकी शुरुआत कल श्रीनगर – बारामूला के बीच ट्रेन के सफर से की जा रही है। ट्रेनों के परिचालन शुरू होने से कश्मीर में पर्यटन और उद्योगों का विकास और अधिक तेज गति से बढ़ेगा.

पिछले हफ्ते कश्मीर के डिवीजनल कमिश्नर बेसर अहमद खान ने रेलवे अधिकारियों को तीन दिनों के भीतर ट्रैक निरीक्षण करने का निर्देश दिया, इसके बाद 10 नवंबर को ट्रायल रन और 11 नवंबर से सेवाओं को फिर से शुरू किया गया. उत्तरी कश्मीर के बारामूला से दक्षिण कश्मीर के बनिहाल के लिए ट्रेन सेवा को 5 अगस्त को निलंबित कर दिया गया था.

जम्मू और कश्मीर का केंद्र शासित प्रदेश और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख 31 अक्टूबर को अस्तित्व में आया था. कश्मीर घाटी 5 अगस्त से सख्त प्रतिबंधों के अधीन है, जब केंद्र ने धारा 370 के तहत जम्मू और कश्मीर की विशेष स्थिति को रद्द कर दिया और इसे केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया.

ये भी पढ़ें

Congress Claims Article 370 Dilution: कांग्रेस नेता पवन खेरा का दावा, कांग्रेस ने बिना विवाद के 12 बार अनुच्छेद 370 में किए बदलाव

Jammu Kashmir Ladakh Union Territories: जम्मू-कश्मीर आज से एक राज्य नहीं, लद्दाख के साथ आधिकारिक तौर पर 2 केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App