अहमदाबाद: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बन रही डॉक्यूमेंट्री की शूटिंग के लिए एक रेलवे कोच में आग लगा दी गई ताकि 2002 में हुई गोधरा की घटना को फिर से शूट किया जा सके. पश्चिमी रेलवे अधिकारियों के मुताबिक जिस बोगी को आग लगाया गया वो मॉक ड्रिल बोगी है और फिल्म की क्रू की मांग पर उसमें आग लगाई गई. रेलवे अधिकारियों के मुताबिक क्रू ने कहा है कि वो कोच को उसी हालत में वापस लौटाएंगे जैसी उन्हें शूटिंग के लिए मिली थी.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक वड़ोदरा रेलवे डिविजन के प्रवक्ता खेमराज मीना ने कहा कि ‘डॉक्यूमेंट्री शूटिंग के लिए जो रेलवे बोगी दी गई वो काम की नहीं थी और उसे मॉक ड्रिल बोगी के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है. फिल्म की क्रू को इस वादे के साथ वो बोगी दी गई कि वो इसी कंडीशन में उसे लौटाएंगे. बोगी देने के बदले रेलवे ने पैसे भी लिए हैं.’ फिल्म के डायरेक्टर उमेश शुक्ला के मुताबिक गोधरा ट्रेन हादसे की शूटिंग डब्ल्यू आर प्रतापनगर रेलवे स्टेशन के पास हुई है और फिल्म का सेट कोच केयर सेंटर के पास लगाया गया है. प्रोडक्शन और शूटिंग के लिए रेलवे ने प्रतापनगर और विश्विमत्र स्टेशन रूट पर चार दिन का समय दिया था. डब्ल्यू आर स्टेशन पर सोमवार को शूटिंग का आखिरी दिन था.

गौरतलब है कि 27 फरवरी 2002 को गोधरा ट्रेन हादसे में 59 कार सेवकों की जलकर मौत हो गई थी. इतिहास में ये दिन सबसे बड़े सांप्रदायिक घटना के तौर पर याद किया जाता है जिसमें करीब 1000 लोगों की मौत हुई थी जिनमें से ज्यादातर मुसलमान था. उस वक्त गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी थे.

When NSA Ajit Doval Caught in Pakistan: जिस जासूस अजीत डोभाल को पाक ISI तक पकड़ नहीं पाई, उसे मस्जिद के बाहर बैठे फकीर ने पकड़ लिया और कहा- तुम तो हिंदू हो

Congress BJP Fights Over Pakistan Air Strikes Proof: कांग्रेस ने मांगे पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक के सबूत, नरेंद्र मोदी सरकार के मंत्रियों और बीजेपी का करारा जवाब

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App