नई दिल्ली : गणतंत्र दिवस पर राजधानी दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के बाद दीप सिद्धू का नाम काफी सुर्खियों में हैं. दीप सिद्धू पर 26 जनवरी को दिल्ली के लाल किले पर केसरिया झंडा फहराने और उपद्रव को भड़काने के गंभीर आरोप लगाए गए हैं. लेकिन, वो अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. इस बीच दिल्ली पुलिस ने दीप सिद्धू की जानकारी देने वाले को 1 लाख रुपए इनाम देने की घोषणा की है.

दिल्ली पुलिस लगातार आरोपी दीप सिद्धू की तलाश कर रही है लेकिन, वो अभी तक हाथ नहीं आया है. जिसके चलते दिल्ली पुलिस ने यह इनाम राशि देना का ऐलान किया है. इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने जुगराज सिंह, गुरजोत सिंह और गुरजंत सिंह पर भी एक लाख का इनाम रखा है. वहीं, जजबीर सिंह, बूटा सिंह, सुखदेव सिंह और इकबाल सिंह की जानकारी देने वाले भी दिल्ली पुलिस ने 50-50 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है.

बता दें कि 26 जनवरी को दिल्ली में हुई हिंसा के दौरान दीप सिद्धू लाल किले में ही मौजूद था और भड़काऊ भाषण दे रहा था. हिंसा के बाद जब सोशल मीडिया पर दीप की पहचान हुई और उसका नाम ट्रेंड होने लगा तो वो फरार हो गया. पुलिस ने दीप सिद्धू के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है उसकी LOC भी खोल दी गई है लेकिन वो है कहा ये अभी तक किसी को नहीं पता है. दीप सिद्धू पर जब पुलिस कमिश्नर से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि जो भी हिंसा में शामिल है उसे बक्शा नहीं जाएगा. फिलहाल क्राइम ब्रांच की कई टीमें उसकी तलाश में जुटी हुई हैं. पुलिस का दावा है कि उसे जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा.

जानकारी के लिए बता दें कि .दीप सिद्धू का जन्म साल 1984 में पंजाब के मुक्तसर जिले में हुआ था. दीप सिद्धू पंजाबी फिल्मों के अभिनेता हैं और सामाजिक कार्यकर्ता भी हैं. दीप ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत पंजाबी फिल्म रमता जोगी से की थी, जिसे लेकर कहा जाता है कि इसके निर्माता धर्मेंद्र हैं. दीप ने कानून की पढ़ाई की है.

Farmer Protest Updates: किसान आंदोलन की राह नहीं आसान, प्रशासन ने टिकरी बॉर्डर पर गई नुकीली तारें, जानें आंदोलन की 10 बड़ी बातें

Nitish Kumar new rule: किसी प्रदर्शन में कानून तोड़ा तो नहीं मिलेगी बिहार में सरकारी नौकरी, नीतिश कुमार का नया फरमान जारी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर