नई दिल्ली. जापान में जारी ओलिंपिक महाकुंभ में शनिवार को भारतीय एथलीट नीरज चोपड़ाने जेवलिन थ्रो  में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है. इस कारनामे के साथ ही नीरज चोपड़ा ओलिंपिक की व्यक्तगित प्रतिस्पर्धा में सोना जीतने वाले इतिहास के सिर्फ दूसरे और एथलेटिक्स में यह कारनामा करने वाले पहले भारतीय एलीट बन गए गए हैं.

नीरज चोपड़ा से पहले सिर्फ शूटिंग में अभिनव बिंद्रा ने साल 2008 में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता था. बता देें कि नीरज ने अपने पहले थ्रो में 87.03 मीटर दूर भाला फेंका, जबकि पहले राउंड की दूसरी कोशिश में नीरज के भाले ने 87.58 मी. की दूरी मापी. तीसरे प्रयास में नीरजृ ने 76.79 मी. दूर भाला फेंका. पहले राउंड में 12 खिलाड़ियों से 8 ने अगले दूसरे और फाइनल राउंड में जगह बनायी थी. यहां नीरज से कुछ फाउल जरूर हुए, लेकिन अच्छी बात यह रही कि नीरज शुरुआत से लेकर खत्म होने तक एक बार भी नंबर-1 पायदान से नीचे नहीं फिसले और इसी के साथ उन्होंने समापन किया.

CISCE Improvement Exam: 10वीं-12वीं की कंपार्टमेंट और इम्प्रूवमेंट एक्जाम्स का शेड्यूल आया, 16 अगस्त से एग्जाम

Uttarakhand Fake Corona Testing: कुंभ में फ़र्ज़ी कोरोना टेस्ट का खुलासा, ईडी ने दिल्ली से देहरादून तक लैब्स पर मारे छापे, फर्जी बिल, लैपटॉप और 30.9 लाख रुपए बरामद