नई दिल्ली. भारतीय महिला हॉकी टीम भले ही टोक्यो ओलंपिक 2020 में पदक से चूक गई हो, लेकिन उनके शानदार प्रदर्शन ने देश के पीएम समेत हर भारतीय का दिल जीत लिया। भारत की बेटियों ने मैच के अंत तक संघर्ष किया, लेकिन जीत उनके पक्ष में नहीं आई। ओलंपिक में महिला हॉकी टीम का सफर बिना मेडल के ही पूरा हो गया।

ग्रेट ब्रिटेन ने भारत को 4-3 से हराकर टोक्यो ओलंपिक कांस्य पदक जीता। प्रशंसकों और टीमों की चाहत के मुताबिक भले ही बेहतरीन सफर खत्म नहीं हुआ, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने महिला हॉकी टीम का हौसला बढ़ाया है। प्रधानमंत्री मोदी लिखते हैं: हम टोक्यो 2020 में अपनी महिला हॉकी टीम के शानदार प्रदर्शन को हमेशा याद रखेंगे। उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया। टीम के प्रत्येक सदस्य को उल्लेखनीय साहस, कौशल और लचीलापन का आशीर्वाद प्राप्त है। भारत को इस शानदार टीम पर गर्व है।

वही प्रधान मंत्री मोदी ने यह भी लिखा कि महिला हॉकी में हम बहुत कम अंतर से पदक से चूक गए, लेकिन यह टीम न्यू इंडिया की भावना दिखाती है, जहां हम अपना सर्वश्रेष्ठ देते हैं। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि टोक्यो 2020 में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भारत की युवा बेटियों को हॉकी अपनाने और उसमें उत्कृष्टता हासिल करने के लिए प्रेरित करेगा। भारतीय महिला हॉकी टीम को टोक्यो ओलंपिक में ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ बहादुरी से लड़ने के लिए शुभकामनाएं। अपनी लड़ाई की भावना को बनाए रखें और प्रेरित करें। आप सभी को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं।

Madhya Pradesh: बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा का अजीबोगरीब बयान, बाढ़ के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया

Cheque Payment: RBI ने किया नियम में बदलाव, चेक से करते हैं पेमेंट तो देनी पड़ सकती है पेनाल्टी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर