नई दिल्ली. भारत ने टोक्यो ओलपिंक में उस वक्त इतिहास रच दिया जब स्टार जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने देश की झोली में पहला गोल्ड मेडल डाला। अभिनव बिंद्रा के बाद ओलंपिक में पहली बार स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरजा चोपड़ा ने कहा, ‘विश्वास नहीं हो रहा। पहली बार है जब भारत ने एथलेटिक्स में स्वर्ण पदक जीता है इसलिए मैं बहुत खुश हूं।’

अपना गोल्ड मेडल एथलीट मिल्खा सिंह को समर्पित करते हुए नीरज ने कहा, मैं मेडल के साथ उनसे मिलना चाहता था. अभी हाल ही में कोरोना की वजह से पूर्व एथलीट मिल्खा सिंह की मौत हो गई थी. उन्होंने कहा था कि वो ओलंपिक में किसी भारतीय को ट्रैक और फील्ड में ओलंपिक पदक जीतते हुए देखना चाहते हैं।

वहीं बेटे की जीत से गदगद नीरज चोपड़ा की मां सरोज देवी ने कहा कि उन्हें विश्वास था कि उनका बेटा उन्हें और देश को गौरवान्वित करेगा। उन्होंने कहा कि वह अपने बेटे के टोक्यो से लौटने के बाद उसकी पसंदीदा डिश – चूरमा खिलाएंगी। चूरमा उत्तर भारत का मीठा व्यंजन है।

नीरज चोपड़ा की मां ने कहा, वह घर को भी सजाएंगी और उनके लिए भव्य स्वागत का आयोजन करेंगी।

Tokyo Olympics 2020 : नीरज चोपड़ा ने ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीतकर रचा इतिहास

CISCE Improvement Exam: 10वीं-12वीं की कंपार्टमेंट और इम्प्रूवमेंट एक्जाम्स का शेड्यूल आया, 16 अगस्त से एग्जाम

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर