Tuesday, July 5, 2022

दिल्ली: श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि आज, पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह समेत कई बीजेपी नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

दिल्ली:

नई दिल्ली। जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की आज पुण्यतिथि है। देशभर में बीजेपी के नेता और कार्यकर्ता कार्यक्रमों के जरिए मुखर्जी को याद कर रहे है। इसी बीच प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि दी है। पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा कि देश की एकता को और अधिक मजबूत करने की दिशा में श्यामा प्रसाद मुखर्जी के ‘अद्वितीय प्रयासों के लिए हर भारतीय उनका ऋणी है।

प्रधानमंत्री मोदी ने किया ट्वीट

श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी को उनकी पुण्यतिथि पर याद करते हुए अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। उनके भारत की एकता को और अधिक मजबूत करने तथा आगे बढ़ाने की दिशा में अद्वितीय प्रयासों के लिए हर भारतीय सदैव उनका ऋणी रहेगा। पीएम ने आगे लिखा कि उन्होंने भारत की प्रगति के लिए कड़ी मेहनत की और एक मजबूत तथा समृद्ध राष्ट्र का सपना देखा था। हम उनके सपनों का भारत बनाने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं।

गृहमंत्री अमित शाह ने किया याद

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर ट्वीट कर लिखा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी का जीवन राष्ट्र एकता,सांस्कृतिक समर्पण, शिक्षा व विकास के नवीन विचारों का अद्भुत संगम था। बंगाल की रक्षा हेतु संघर्ष व कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाए रखने के लिए उनके सर्वोच्च बलिदान के लिए हर भारतवासी ऋणी है।

सत्ता सुख त्याग, संघर्ष चुना

अमित शाह ने आगे लिखा कि डॉ. मुखर्जी जी की विद्वता और ज्ञान सम्पदा का लोहा उनके राजनीतिक विरोधी भी मानते थे। वो जानते थे कि उस समय की सरकार जिन विचारों और नीतियों पर चल रही थी उससे देश की समस्याओं का निराकरण सम्भव नहीं होगा। इसलिए उन्होंने राष्ट्रहित में सत्ता सुख को त्याग लंबे संघर्ष का जटिल मार्ग चुना।

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दी श्रद्धांजलि

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने नई दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय पहुंचकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news

Related news

<1-- taboola end -->