नई दिल्ली. भारत के पूर्व मुख्य निर्वाचन अधिकारी टीएन शेषन ने रविवार रात अपने चेन्नई स्थित आवास पर अंतिम सांसे ली. बताया जा रहा है कि पिछले कुछ सालों से उनकी तबीयत ठीक नहीं थी और रविवार करीब 09.30 बजे दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया. इससे पहले भी कई बार सोशल मीडिया पर उनके निधन की खबर सामने आई है. लेकिन कुछ देर पहले एनआई ने टीएन शेषन के निधन के खबर की जानकारी दी है.

टीएन शेषन के निधन क बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी समेत कई नेताओं ने सोशल मीडिया के जरिए शोक प्रकट किया है. प्रधानमंत्री ने ट्विट करते हुए लिखा- टीएन शेषन एक अच्छे सिविल सेवक थे. उन्होंने अपने अत्यंत परिश्रम और निष्ठा के साथ भारत की सेवा की. चुनावी सुधारों के प्रति उनके प्रयासों ने हमारे लोकतंत्र को मजबूत बनाया है. उनके निधन से मुझे काफी दुख हुआ.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने लिखा- टीएन शेषन के निधन का मुझे दुख है. वह एक सच्चे किंवदंती थे. चुनाव सुधारों के लिए उनका योगदान आने वाले वर्षों के लिए मार्गदर्शक प्रकाश होगा। मै गहरी संवेदना व्यक्त करता हूँ. शांति!

टीएन शेषन के निधन की खबर से पूरे देश में शोक की लहर हैं. सोशल मीडिया पर उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए लोगों का तांता लग चुका है. लोगों का कहना है कि भारत टीएन शेषन को हमेशा एक ऐसे व्यक्ति के रूप में याद जिसने मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में चुनाव प्रणाली में सुधार किया. आपको बता दें कि शेषन पहले ऐसे निर्वाचन अधिकारी थे जिन्होंने बिहार में चार चरण में चुनाव करवाया था. उन्होंने अपने कार्यकाल में त्तकालीन सरकार नरसिम्हा राव से लेकर बिहार के मुख्यमंत्री लालू यादव तक किसी को नहीं बख्शा. टीएन शेषन अपने कड़े रुख के लिए जाने जाते थे.

Also Read, ये भी पढ़ें– Former Election Commissioner TN Seshan Profile: पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टीएन शेषन का निधन, जानें कैसा रहा उनका करियर

BJP Candidates List Jharkhand Assembly Elections 2019: झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी की 52 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, CM रघुबर दास सहित ये नाम शामिल

Congress First Candidate List Jharkhand Assembly Eelection 2019: झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस ने जारी की 5 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, पार्टी अध्यक्ष रामेश्वर उंराव को लोहरदगा से दिया टिकट

Maharashtra Govt Formation: बीजेपी नहीं जुटा पाई नंबर, अब राज्यपाल ने शिवसेना को दिया सरकार बनाने का न्योता, एनसीपी ने समर्थन के लिए रखी NDA छोड़ने की शर्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App