खूंटी: झारखंड का नक्सल प्रभावित जिला खूंटी से एक ऐसा वीडिया सामने आजा जो आज की शिक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हैं. दरअसल खूंडी जिले के ग्राम उद्बुरु में बच्चों को सरकारी स्कूल में न भेजकर ग्राम सभा द्वारा आयोजित कक्षाओं में पढ़ने के लिए भेजा जा रहा है. लेकिन इन कक्षाओं में होने वाली पढ़ाई को जान कर आप भी हैरान हो जाएंगे.

दरअसल ग्राम सभा की ओर से लगाए जा रहे इन कक्षाओं में बच्चों को पढ़ाया जा रहा है कि च से चोर, च से चाचा नेहरू चोरों को प्रधानमंत्री थे. घ से घंटी, घंटी बजाने वाला बुड़बक ब्राह्मण है, छ से छलकपट- ओआईजीएस लोग छलकपट होते हैं जैसा पाठ पढ़ाया जा रहा है. अब हिन्दी की वर्णमाला के बाद अंग्रेजी के अक्षरों के बारे में भी जान ले कि क्या पढ़ाया जा रहा है. ब्लैक बोर्ड पर बच्चों को लिखकर पढ़ाया जा रहा है कि A फॉर आदिवासी, B फॉर विदेशी, C फॉर छोटानागपुर कास्तकारी अधिनियम, D फॉर धरती, E फॉर इमिगरेन जैसे शब्द पढ़ाए जा रहे हैं.

बता दें कि खूंटी जिला झारखंड का नक्सल प्रभावित जिला है. यह पूरी तरह से आदिवासी इलाका भी है. सवाल ये भी है कि आखिर वहां के ग्रामीण अपने बच्चों को पढ़ने के लिए सरकारी स्कूल में क्यों नहीं भेजते हैं. या फिर वहां के सरकारी स्कूलों में शिक्षा की उचित व्यवस्था नहीं है. या कोई और वजह है. एक सवाल ये भी हैं कि इन बच्चों की शिक्षा के लिए राज्य सरकार क्या कर रही है. क्या जिले के शिक्षा अधिकारियों को इस बात की जानकारी नहीं है, और अगर है तो इसके लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं.

रांची में तीन नाबालिगों की दरिंदगी, 7वीं क्लास की छात्रा के साथ किया रेप, 3 दिन बेहोश रही छात्रा

झारखंड: महिला को डायन बताकर पंचायत ने भरी सभा में उतरवाए कपड़े

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App