Thursday, August 11, 2022

 दिल्ली की इस सुरंग से यूपी-हरियाणा के लोगों का सफर अब होगा आसान

नई दिल्ली। लंबे समय से ट्रैफिक जाम से जूझ रहे लोगों के लिए यह एक अच्छी खबर है। इस महीने के अंत तक लोगों को आईटीओ जाम से बड़ी राहत मिलेगी। लोक निर्माण विभाग ने प्रगति मैदान टनल रोड, मथुरा रोड सिग्नल फ्री योजना का काम पूरा कर लिया है।

जल्द होगा उदघाट्न

लोक निर्माण विभाग का कहना है कि टनल रोड के उद्घाटन के लिए आईटीपीओ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से समय मांगा है। समय आने पर परियोजना का उद्घाटन किया जाएगा। उनकी तरफ से टनल रोड का काम पूरा कर लिया गया है।

विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि परियोजना के संबंध में कोई भी जानकारी आईटीपीओ द्वारा दी जाएगी। लेकिन इतना तय है कि टनल रोड का काम पूरा हो चुका है। अगर आसपास के क्षेत्र के सौंदर्यीकरण की बात हो तो इसे बाद में भी पूरा किया जाएगा।

यहां लगेगा समय

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट अंडरपास और भैरों मार्ग रिंग रोड टी-प्वाइंट अंडरपास का काम पूरा होने में अभी कुछ समय लग सकता है। इन दोनों अंडरपास को छोड़कर उद्घाटन किया जाएगा। बता दें कि टनल रोड शुरू होने से अशोक रोड, कनॉट प्लेस, इंडिया गेट, मंडी हाउस से यमुनापार की ओर आने वाले सभी लोग आईटीओ नहीं आएंगे। 1200 मीटर लंबी इस सुरंग से ये लोग सफर करेंगे।

दरअसल, मथुरा रोड भैरों मार्ग टी-प्वाइंट और भैरों मार्ग-रिंग रोड की लाल बत्ती हटने से लोग भैरों मार्ग का इस्तेमाल करेंगे और बिना किसी रोक-टोक के सीधे रिंग रोड पर चले जाएंगे। मथुरा रोड के सिग्नल फ्री होने से आईटीओ से साउथ दिल्ली की ओर सफर करना आसान हो जाएगा।

इन योजनाओं पर काम किया जा रहा है

टनल रोड योजना : 20 मिनट से 30 मिनट तक डेढ़ किलोमीटर की दूरी तय करने के लिए सुबह-शाम लोग इंडिया गेट से रिंग रोड या रिंग रोड से इंडिया गेट तक ट्रैफिक में फंस जाते हैं। ऐसे में लोक निर्माण विभाग प्रगति मैदान के नीचे से टनल रोड का निर्माण कर रहा है। इसके शुरू होने से रिंग रोड से आने वाले लोग इस टनल के जरिए सीधे इंडिया गेट की ओर जा सकेंगे।

सिग्नल फ्री मथुरा रोड : मथुरा रोड को जाम मुक्त बनाने के लिए पीडब्ल्यूडी आईटीओ डब्ल्यू प्वाइंट से दिल्ली पब्लिक स्कूल तक करीब तीन किलोमीटर तक इस रूट को सिग्नल फ्री करने की योजना पर काम कर रहा है। इस मार्ग से छह लाल बत्ती हटाई जानी हैं। इसके लिए चार अंडरग्राउंड यू-टर्न बनाए जा रहे हैं। यह भी लगभग पूरा हो चुका है। पहले यह काम 31 मार्च 2020 और बाद में 31 मार्च 2021, 31 मार्च 2022 तक पूरा किया जाना था।

यह भी पढ़े-

KK की मौत पर बड़ा खुलासा: 2500 की क्षमता वाले हॉल में जुटे 5000 लोग, भीड़ हटाने के लिए छोड़ी गई गैस

Latest news