दिल्ली. Terrorist Mohammad Ashraf Case : दिल्ली पुलिस ने हाल ही में लक्ष्मी नगर इलाके से सोमवार रात को एक ISI आंतकी को गिरफ्तार किया था. पुलिस को इस आंतकी के पास से एक एके-47 राइफल, एक अतिरिक्त मैगजीन और 60 राउंड, एक हथगोला सहित दो पिस्टल बरामद हुई थी.

मामले में पुलिस ने किया बड़ा खुलासा

पुलिस ने आंतकी के बैंक अकाउंट की जानकारी हासिल की है जिसमे पुलिस ने इस बात का खुलासा किया है की आतंकी को हर महीने पाकिस्तान से 25 से 30 रूपये आते थे. आंतकी को पाकिस्तान से ऑपरेट किया जा रहा था. बता दें यह आतंकी पाकिस्तान के ISI के आर्डर पर भारत में कई जगह पर बम धमाके की प्लानिंग कर रहा था. आतंकी मौहम्मद अशरफ उर्फ अली अहमद नूरी भारत में 17 साल से रह रहा था और स्लीपर सेल का मुखिया बना हुआ था. आतंकी करीब 17 वर्ष से फर्जी आईडी से भारत में रह रहा था. ये जम्मू कश्मीर समेत देश में पिछले दिनों हुए आतंकी हमले में शामिल रहा है. आतंकी ने पाकिस्तान में छह महीने की आतंकी ट्रेनिंग भी ली हुई है.

हाईकोर्ट बम धमाकों में शामिल था अशरफ

आतंकी मौहम्मद अशरफ उर्फ अली अहमद नूरी देश में हुए आंतकी हमलो में शामिल रह चुका है. साल 2011 में हुए कोर्ट बम धमाके में आंतकी मौहम्मद अशरफ मुख्य रूप से शामिल रह था. पूछताछ के दौरान आंतकी ने कई खुलासे किए जिसमे उसने बताया की जम्मू कश्मीर में कई सेना के लोगों को उसके सामने आतंकियों ने उनकी गला दबाकर हत्या कर दी थी. इसके अलावा वह जम्मू कश्मीर के कई दौरे कर चुका है.

यह भी पढ़े:

CWC की बैठक में सोनिया ने G-23 को फटकारा, मैं हूं अध्यक्ष, मुझसे सीधे बात करें

Jai Parkash Dalal press conference सरकार का मकसद किसानों की आमदनी को बढ़ाना

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर