Telangana BSP: तेलंगाना में बसपा ने ट्रांसजेंडर उम्मीदवार को दिया टिकट

हैदराबाद: तेलंगाना आगामी विधानसभा चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार है. राज्य में सभी पार्टियों के उम्मीदवार जोर-शोर से चुनाव प्रचार में जुटे हुए हैं. बहुजन समाज पार्टी (BSP) प्रमुख मायावती ने भी एक ट्रांसजेंडर को उम्मीदवार बनाया है. बसपा ने वारंगल से ट्रांसजेंडर पुष्पिता लाया को टिकट दिया है. पुष्पिता इन दिनों पूरे जोश के साथ लोगों से मिल रही हैं और जमकर प्रचार कर रही हैं. लोग भी उन्हें खूब प्यार दे रहे हैं.

साड़ी पहने और गले में नीला पार्टी बैंड पहने पुष्पिता अपने समर्थकों से मिल रही हैं और पर्चे बांट रही हैं। वे उन्हें वोट करने की अपील भी कर रही हैं. इस दौरान वहां से गुजरने वाले लोग भी उनकी बात ध्यान से सुनते हैं. वह महिलाओं, बुजुर्गों और युवाओं से खुद को विजयी बनाने की अपील कर रही हैं. मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मायावती जी को धन्यवाद देती हूं, उन्होंने मुझे टिकट दिया और उम्मीदवार बनाया.

लोग किन्नरों के साथ खड़े होने में सोचते हैं

पुष्पिता लाया ने मायावती के साथ-साथ प्रदेश अध्यक्ष डॉ. आरएस प्रवीण कुमार को भी धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि किन्नर समाज भी बसपा (BSP) में काम कर रहा है, इससे सभी लोग काफी खुश हैं. उन्होंने कहा कि किसी भी पार्टी ने टिकट नहीं दिया, हर कोई किन्नरों को हेय दृष्टि से देखता है. लेकिन मायावती ने उन्हें टिकट दे दिया. उन्होंने यह भी कहा किन्नरों के साथ खड़े होने में लोग सोचते हैं लेकिन मायावती ने किन्नरों को टिकट दिया है, जिससे उनके समाज के सभी लोग बहुत खुश हैं.

ट्रांसजेंडर समुदाय की उम्मीदवार

आपको बता दें कि पुष्पिता लाया वारंगल पूर्व निर्वाचन क्षेत्र में ट्रांसजेंडर समुदाय का नेतृत्व करती हैं। इस क्षेत्र में उनकी अच्छी उपस्थिति है. पुष्पिता न केवल तेलंगाना से बल्कि पूर्ववर्ती तेलुगु भाषी राज्य आंध्र प्रदेश से भी पहली ट्रांसजेंडर उम्मीदवार हैं। यही वजह है कि वह चुनाव लड़ने को लेकर काफी उत्साहित हैं और लोगों से खुद को विजयी बनाने की अपील कर रही हैं. ऐसे में अगर पुष्पिता चुनाव जीतती हैं तो यह न सिर्फ ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए बल्कि पूरे आंध्र प्रदेश के लिए बड़ी बात होगी।

30 नवंबर को होगा तेलंगाना विधानसभा चुनाव

गौरतलब है कि तेलंगाना की 119 विधानसभा सीटों के लिए 30 नवंबर को मतदान होगा. वोटों की गिनती 3 दिसंबर को होगी और नतीजे भी 3 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे. राज्य में बीआरएस, कांग्रेस और बीजेपी के बीच अहम मुकाबला है. वहीं, असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने भी कुछ सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं.

यह भी पढ़ें : Telangana Election 2023: तेलंगाना में कांग्रेस को कंट्रोल करता है RSS, जमकर बरसे ओवैसी

Latest news