नई दिल्ली. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ को लेकर अलर्ट जारी किया है। यह मंगलवार तक गुजरात तट से टकरा सकता है। गुजरात और दीव के समुद्र तट चक्रवात को लेकर निगरानी में हैं।

चक्रवात तौकते के मद्देनजर राहत एवं बचाव कार्य के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने अपनी टीमों की संख्या 53 से बढ़ाकर 100 कर दी है। एनडीआरएफ के महानिदेशक एस एन प्रधान ने एक ट्वीट में कहा कि ये टीम केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, गोवा, गुजरात और महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों में कूच के लिए तैयार हैं। 

उन्होंने कहा कि, इन टीमों के सदस्यों का कोविड-19 रोधी टीकाकरण किया गया है और ये जरूरी उपकरणों से लैस हैं. बल की एक टीम में 35-40 कर्मी हैं और उनके पास पेड़ तथा खंभों को काटने वाले औजार, नौकाएं, बुनियादी चिकित्सा सामग्री तथा अन्य राहत एवं बचाव उपकरण हैं।

175 किमी प्रति घण्टे की रफ्तार

अरब सागर में ये तूफान पिछले 6 घंटे के दौरान 9 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। मौसम विभाग का अनुमान है कि तट से टकराते समय चक्रवात की रफ्तार 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे तक रह सकती है।

आईएमडी के चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने कहा कि 16-19 मई के बीच पूरी संभावना है कि यह 150-160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ एक अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील होगा। हवाओं की रफ्तार बीच-बीच में 175 किलोमीटर प्रति घंटा भी हो सकती है।

क्यों पड़ा ये नाम

तूफान को तौकते नाम म्यांमार ने दिया है जिसका मतलब छिपकली होता है. इस साल भारतीय तट पर यह पहला चक्रवाती तूफान होगा।

कई फ्लाइट्स रद्द

तूफान को देखते हुए कई फ्लाइट्स को रद्द कर दिया गया है. विस्तारा एयलाइंस के कहा है कि चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, कोच्चि, बेंगलुरु, मुंबई, पुणे, गोवा और अहमदाबाद के लिए उड़ानें 17 मई, 2021 तक प्रभावित रहेगी।

Delhi Corona Update : दिल्ली में कम हुई कोरोना की संक्रमण दर, घर में इलाज करा रहे मरीजों को 2 घण्टे में मिलेगा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

West Bengal Lockdown : पश्चिम बंगाल में लगा 30 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन, सिर्फ आवश्यक सेवाओं को छूट