Thursday, December 1, 2022

क्यों किया जा रहा Bisleri का सौदा? कंपनी के मालिक ने बताई वजह

नई दिल्ली. जब भी बोतलबंद पानी यानी की पैकेज्ड वाटर का जिक्र किया जाता है तो ज़ुबां से बस एक ही नाम निकलता है और वो है बिसलेरी. दरअसल, अब मशहूर ब्रांड बिसलेरी बिकने वाला है. हालांकि, ये कंपनी किसी विदेशी हाथों में नहीं जा रही और शायद ग्राहकों को इसी नाम से ये मिलता भी रहेगा. दरअसल, इसे कंपनी की कमान संभाल रहे रमेश चौहान ने बिसलेरी को बेचने का फैसला लिया है और खरीदारों की रेस में सबसे पहला नाम टाटा का है. Tata Consumer Products Ltd इसे खरीदना चाहती है. लेकिन सवाल ये उठ रहे हैं कि देश का सबसे लोकप्रिय ब्रांड होने और अच्छा कारोबार करने के बावजूद आखिर क्यों इसे बेचा जा रहा है ?

इसलिए हो रहा बिसलेरी का सौदा

भारत की सबसे बड़ी पैकेज्ड वाटर कंपनी बिसलेरी के मालिक 82 वर्षीय रमेश चौहान हैं और उन्होंने ही इसे बेचने का फैसला लिया है. अब रिपोर्ट्स की मानें तो रमेश चौहान की बढ़ती उम्र के साथ ही खराब स्वास्थ्य के अलावा और भी कई ऐसे कारण हैं, जिनकी वजह से बिसलेरी को बेचने की नौबत आ गई. रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि बिसलेरी को आगे बढ़ाने या इसका विस्तार करने के लिए रमेश चौहान का कोई उत्तराधिकारी नहीं है जिसकी वजह से उन्हें इसका सौदा करना पड़ रहा है.

बेटी की कम दिलचस्पी भी है एक बड़ी वजह

रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि रमेश चौहान की बेटी और बिसलेरी की वाइस चेयरपर्सन जयंती इस कारोबार के लिए ज्यादा उत्साही नहीं हैं, जिसके चलते अब बिसलेरी को बेचने की नौबत आ गई है. बता दें कि बिसलेरी के चेयरमैन और एमडी पद की जिम्मेदारी रमेश चौहान के कंधे पर है, और उनकी पत्नी Zainab Chauhan कंपनी की डायरेक्टर हैं. रिपोर्ट्स की मानें तो अब रमेश चौहान की तो उम्र हो गई है और उनका स्वास्थ्य भी ठीक नहीं रहता है. वहीं, बेटी को इस कारोबार में कोई ख़ास दिलचस्पी नहीं है, ऐसे में रमेश चौहान ने इसका सौदा करना का फैसला लिया है.

 

गलवान पर ऋचा चढ्ढा का विवादित ट्वीट, भड़की बीजेपी बोली- ‘थर्ड ग्रेड एक्ट्रेस पर केस दर्ज हो’

Gujrat: क्या BJP के पास खत्म हो गए हैं मुद्दे?भारत जोड़ो यात्रा में मेधा पाटकर को लेकर हमलावर पीएम

Latest news