गुवाहाटी: असम के पूर्व मुख्यमंत्री और छह बार सांसद रहे तरुण गोगोई नहीं रहे. तरुण गोगोई का सोमवार को निधन हो गया. असम के स्वास्थ्य मंत्री ​हेमंत विस्व सरमा ने यह जानकारी दी है. लंबे समय से बीमार चल रहे तरुण गोगोई की सोमवार सुबह तबीयत बिगड़ी थी. कोरोना से जूझ रहे तरुण गोगोई का गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा था. तरुण गोगोई की तबीयत को देखते हुए असम के सीएम सर्बानंद सोनोवाल डिब्रूगढ़ के सभी कार्यक्रम रद कर गुवाहाटी लौट आए थे.

इससे पहले एआइयूडीएफ के प्रमुख बदरुद्दीन अजमल और असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रिपुन बोरा तरुण गोगोई को देखने और उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज पहुंचे थे. तरुण गोगोई को लेकर गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल ने मेडिकल बुलेटिन में कहा था कि पूर्व सीएम कोरोना वायरस से जुड़ी जटिलताओं के कारण अपना उपचार करवा रहे हैं.

हॉस्पिटल ने कहा था कि तरुण गोगोई की मौजूदा हालत ठीक नहीं है बल्कि काफी चिंताजनक बनी हुई है. अस्पताल ने कहा था कि डॉक्टर पूरा प्रयास कर रहे हैं कि तरुण गोगोई की सेहत में किसी तरह सुधार हो. इस दौरान असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा और तरुण गोगोई के बेटे गौरव भी गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में मौजूद रहे. तरुण गोगोई को वेंटिलेटर पर रखा गया था क्योंकि उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. रविवार को उनका डायलिसिस किया गया था जो करीब 6 घंटों तक चला था.

बताया जा रहा है कि उनका ब्लड प्रेशर काफी ऊपर-नीचे कर रहा था और वो पूरी तरह से मशीन के सहारे ही सांस ले रहे थे. तरुण गोगोई तीन बार असम के मुख्यमंत्री रहे. 25 अक्टूबर को वो कोरोना संक्रमित पाए गए थे. तभी से उनका स्वास्थ्य लगातार बिगड़ रहा था.

Opinion On Assam Tripura Protest Over CAB: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी, अगर असमिया लोगों का आप पर भरोसा नहीं होता तो आपको 88 सीटें 2016 विधानसभा चुनाव में नहीं मिलती

CWC New Congress President: शाम में दोबारा होगी कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक, नए अध्यक्ष पर फैसला आज ही संभव, सोनिया गांधी, राहुल गांधी रहेंगे चयन प्रक्रिया से बाहर