तजिंदर बग्गा मामला:

नई दिल्ली।  दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा की पंजाब पुलिस द्वारा गिरफ्तारी पर उनके माता-पिता ने बड़ा आरोप लगाया है. तजिंदर के माता-पिता का कहना है कि पंजाब पुलिस ने उनके अपहरण (गिरफ्तारी) के वक्त उन्हें पगड़ी पहनने की अनुमति नहीं दी और उनके धर्म का अपमान किया है।

पगड़ी पहनने की नहीं दी अनुमति- तजिंदर के पिता

तजिंदर सिंह बग्गा के पिता पीएस बग्गा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पुलिस अधिकारी तजिंदर को घसीटने लगे, उन्होंने उसे पगड़ी पहनने की अनुमति नहीं दी, यह हमारे धार्मिक सिद्धांतों के खिलाफ है। हमने पंजाबी भाइयों से इसके खिलाफ आवाज उठाने को कहा है। अंत में तजिंदर वापस आ गया, यह सच्चाई की जीत है।

हमारे धर्म का किया अपमान- तजिंदर की मां

तजिंदर की मां कमलजीत कौर ने कहा कि सुबह पंजाब पुलिस की टीम घर पर आई और वो तजिंदर को ले जाने लगी. तजिंदर के पापा ने जैसे ही वीडियो बनाना शुरू किया, उन्होंने उनको मारा और फोन छीन लिया. इसके बाद पुलिसवालों ने तजिंदर को पगड़ी भी नहीं पहनने दिया. कमलजीत ने आगे कहा कि पंजाब पुलिस की टीम ने तजिंदर का अपहरण करने के साथ-साथ हमारे धर्म का भी अपमान किया है।

घर पहुंचे तजिंदर बग्गा

बता दें कि दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा की देर रात मजिस्ट्रेट के घर पर पेश होने के बाद अपन घर पहुंच गए. घर वापस आने पर बीजेपी के नेता और कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया. इस दौरान उनके घर पर जश्न का माहौल था।

धमकियों और एफआईआर से नहीं डरते- बग्गा

घर पहुंचने के बाद तजिंदर बग्गा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अगर अरविंद केजरीवाल जी समझते हैं कि धमकियों और एफआईआर से हमें डरा सकते हैं, तो मैं कहना चाहता हूं कि हम यह लड़ाई लड़ते रहेंगे. चाहे आप एक नहीं 100 एफआईआर क्यों न कर लो. उन्होंने आगे कहा कि जो लोग मानते हैं कि वह पुलिस की मदद से कुछ भी कर सकते हैं. मैं उन्हें बताना चाहूंगा कि बीजेपी कार्यकर्ता किसी से भी नहीं डरेगा।

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर