नागालैंड-मेघालय में 7 मार्च, त्रिपुरा में 8 मार्च को होगा शपथ ग्रहण समारोह

नई दिल्ली। पूर्वोत्तर के तीन राज्यों- नागालैंड, मेघालय और त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव के परिणाम गुरुवार को सामने आ गए। इस बीच अब हर कोई जानना चाहता है कि तीनों राज्यों में शपथ ग्रहण समारोह कब होगा? इस सवाल का जवाब अब मिल गया है, मेघालय में 7 मार्च को सुबह 11 बजे, नागालैंड में दोपहर 1:45 बजे और त्रिपुरा में 8 मार्च को सुबह 11 बजे शपथ ग्रहण समारोह होगा। बताया जा रहा है कि तीनों ही शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री मोदी शामिल होंगे।

आइए जानते हैं कि त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड के चुनावी नतीजे क्या रहे….

त्रिपुरा में बीजेपी को दूसरी बार स्पष्ट बहुमत

त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में भाजपा ने लगातार दूसरी बार स्पष्ट बहुमत हासिल किया है। गुरुवार को हुई मतगणना में पार्टी को 60 में से 32 सीटें मिली हैं। लेफ्ट और कांग्रेस का गठबंधन चुनाव परिणाम में दूसरे नंबर पर रहा, जिसने 14 सीटों पर जीत दर्ज की। वहीं, नई नवेली टिपरा मोथा पार्टी को 11 सीटें मिली हैं। भाजपा की सहयोगी पार्टी इंडिजीनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा ने एक सीट पर विजय प्राप्त की है।

नागालैंड में एनडीपीपी-बीजेपी गठबंधन जीता

नागालैंड विधानसभा चुनाव में सत्ताधारी एनडीपीपी-बीजेपी गठबंधन ने लगातार दूसरी बार बहुमत हासिल किया है। चुनाव परिणाम में एनडीपीपी को 25 और बीजेपी को 12 सीटों पर जीत मिली है। वहीं, 7 सीटों पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने विजय हासिल की है। एनपीपी को 5 और एनपीएफ को 2 सीट मिली है। चिराग पासवान की लोकजनशक्ति पार्टी (राम विलास) को 2 सीट पर जीत मिली है। रामदास अठावले की पार्टी RPI ने दो सीटों पर विजय हासिल की और नीतीश कुमार की जनता दल यूनाइटेड ने एक सीट पर जीत दर्ज की है। बता दें कि, केंद्र की सत्ता में सबसे ज्यादा समय तक राज करने वाली कांग्रेस पार्टी का चुनाव परिणाम में खाता तक नहीं खुला है।

मेघलाय में एनपीपी-बीजेपी साथ बनाएंगे सरकार

मेघलाय विधानसभा के चुनाव परिणाम में किसी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नही मिला है। यहां मौजूदा मुख्यमंत्री कोनराड संगमा की पार्टी एनपीपी ने 60 में 26 सीटों पर जीत दर्ज की है। वहीं, यूडीपी को 11 सीटों पर जीत मिली है। कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस ने 5-5 सीटों पर जीत हासिल की है। भारतीय जनता पार्टी को 2 सीट मिली है। जानकारी के मुताबिक राज्य में सरकार बनाने के लिए मुख्यमंत्री कोनराड संगमा में बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व से बातचीत कर ली है। संगमा ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से फोन पर बात की और नई सरकार बनाने के लिए बीजेपी का समर्थन मांगा। बताया जा रहा है कि भाजपा समर्थन देने के लिए राजी हो गई है और वो संगमा सरकार में शामिल होगी।

कारगिल युद्ध के साजिशकर्ता थे मुशर्रफ, 1965 में भारत के खिलाफ लड़े थे युद्ध

Parvez Musharraf: जानिए क्या है मुशर्रफ-धोनी कनेक्शन, लोग क्यों करते हैं याद

Latest news