फिल्म थ्री इडियट के एक सीन में ‘रैंचो’ (आमिर खान) अपने प्रोफेसर ‘वीरू सहस्त्रबुद्धि’ (बोमन इरानी) से कहते हैं मुबारक हो सर, ना पुलिस को पता चला, ना जॉय के बाप को… सब सोच रहे हैं सुसाइड है सर. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में आया मौत का कारण- इंटेंस प्रेशन ऑन विनपाइप, रिजल्टिंग इन चोकिंग… वो वेबकूफ सोच रहे हैं गले पर प्रेशर पड़ने से मर गया और पिछले चार साल से जो दिमाग पर प्रेशर पड़ रहा है उसका क्या? वो तो रिपोर्ट में है ही नहीं सर. ये इंजीनियर्स बड़े चालाक होते हैं सर, ऐसी कोई मशीन ही नहीं बनाई जो दिमाग का प्रेशर नाप सके, अगर बनाते तो पता चल जाता कि ये सुसाइड नहीं मर्डर है. ठीक वैसा ही मर्डर जैसा सुशांत सिंह राजपूत का किया गया. सुशांत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी शायद यही कहेगी कि मौत फांसी के कारण गला दबने से हुई लेकिन दिमाग पर जो दवाब था उसका क्या?

छोटे से गांव से बड़े-बड़े ख्वाब सपनों की नगरी मुंबई आए सुशांत ने जी तोड़ मेहनत कर बॉलीवुड में जगह तो बना ली, लेकिन महाभारत के अभिमन्यु की तरह उस चक्रव्यूह में फंस गए जिसे बॉलीवुड को हथियाने वाले चंद घरानों ने हथिया रखा है. सुशांत को बॉलीवुड का नेपोटिज्म खा गया. बॉलीवुड के मठाधीशों ने सुशांत को इतना गिराया इतना गिराया कि आखिरकार उन्होंने मौत को गले लगा लिया. लखनऊ/ पटना/इंदौर/अमृतसर जैसे शहरों में लाखों-करोड़ों लड़के-लड़कियों के ख्वाब बहुत ऊंचे होते हैं, उसे पाने के लिए वो जीा-तोड़ मेहनत भी करते हैं, लेकिन जब आपको साजिश के तहत गिराया जाता है और आपको कोई संभालने वाला नहीं होता तो ऐसे बच्चों में डिप्रेशन भी बहुत जल्दी आता है.

सुशांत का कोई फिल्मी बैकग्राउंड नहीं था. उन्होंने मात्र 12 फिल्में की और उनमें से से काय पो चे और धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी को छोड़कर बाकी फिल्में खास नहीं चली. इन दो फिल्मों की कमाई ठीक-ठाक हुई तो बस यही दो फिल्में सुशांत की कुल जमापूंजी थी. खबर आई कि शेखर कपूर उन्हें लेकर पानी बनाने वाले हैं. इंरनेशनल डायरेक्टर के साथ काम करने के लालच में सुशांत ने कई फिल्में ठुकरा दी. सुशांत को पानी से काफी उम्मीदें थीं लेकिन बाद में खबर आई कि ये प्रोजेक्ट बंद हो गया है. बाद में एक और खबर आई कि पानी के लिए भी रणवीर सिंह से बातचीत शुरू हो गई. इससे पहले रणवीर सिंह सुशांत की नाक के नीचे से संजय लीला भंसाली की फिल्म राम-लीला उड़ा चुके थे.

सुशांत के पास कोई काम नहीं बचा था, ले देकर उन्हें वेब सीरीज मिली जिसकी शूटिंग जुलाई से शुरू होनी थी लेकिन हाय री किस्मत. लॉकडाउन लग गया जिसने पूरे देश को डिप्रेशन में डाल दिया. लॉकडाउन की वजह से मल्टीप्लेक्स इतनी जल्दी तो खुलने से रहे और उसी लिहाज से किसी नई फिल्म की शूटिंग भी होने से रही. इस तनाव ने सुशांत को और ज्यादा डिप्रेशन में डाल दिया.

सुशांत कोई इतने बड़े स्टॉर तो थे नहीं कि एक फिल्म की और 100-200 करोड़ पीट लिए. बॉलीवुड में किसी स्टॉर को उसकी फीस के मुताबिक आंका जाता है. जितना बड़ा स्टॉर, उतनी बड़ी फीस. आम तौर पर किसी अभिनेता या अभिनेत्री की मेन कमाई होती है साइनिंग अमाउंट यानी जो पैसा किसी फिल्म को करने से पहले बयाने के तौर पर दिया जाता है. बाकी कॉन्ट्रेक्ट होता है कि फिल्म जितनी चलेगी उसका एक निश्चित प्रतिशत मिलेगा. यानी जो निश्चित तौर पर हाथ में आता है वो है साइनिंग अमाउंट. सुशांत सिंह की फीस थी 5 करोड़ रूपये.

अब आप कहेंगे पांच करोड़ रूपये क्या कम होते हैं तो भैया जैसा देश वैसा भेस, जैसी कमाई होती है, खर्च भी वैसा ही होता है. ऊपर से लॉकडाउन लग गया तो वो कमाई भी बंद लेकिन खर्चे पूरे. छोटे पर्दे पर एपिसोड़ के हिसाब से पैसे कमाने वाले एक्टर-एक्ट्रेसेज का हाल ही देख लीजिए. कितने अभिनेता सोशल मीडिया पर आकर आर्थिक मदद मांग रहे हैं कि साहब खाने तक के पैसे नहीं बचे.

Sushant Singh Rajput Passes Away: जो आज घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं, दरअसल वही सुशांत सिंह राजपूत की मौत के जिम्मेदार हैं

Sushant Singh post mortem report: सुशांत सिंह की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने, दम घुटने से हुई मौत, शाम को होगा अंतिम संस्कार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर