नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच के लिए सीबीआई ने एसआईटी का गठन कर दिया है. स्पेशल इनवेस्टिगेटिंग टीम में चार वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे. जानकारी के मुताबिक सीबीआई ने पहले से ही तैयारी रखी थी कि अगर सुप्रीम कोर्ट से आदेश आ जाता है तो वो किस अधिकारी को मामले की जांच सौपेंगे. कोर्ट से आदेश आते ही सीबीआई ने एसआईटी टीम का एलान कर दिया. एसआईटी का नेतृत्व सीबीआई के जॉइंट डायरेक्टर मनोज शशिधर करेंगे. उनके अलावा गगनदीप गंभीर, एसपी नूपुर प्रसाद और एडिशनल एसपी अनिल यादव इस टीम का हिस्सा होंगे.

बताया जा रहा है कि सीबीआई जांच बिहार पुलिस की एफआईआर पर आधारित होगी जिसमें आत्महत्या के लिए उकसाने, धोखाधड़ी और साजिश रचने का मुकदमा दर्ज किया गया था. उस एफआईआर में आईपीसी की धारा 341, 348, 380, 406, 420, 306 और 120बी शामिल की गई हैं. बताया जा रहा है कि एसआईटी जल्द ही मुंबई पुलिस को चिट्ठी लिखकर इस मामले की केस डायरी, क्राइम सीन के फोटोग्राफ, ऑटोप्सी रिपोर्ट, मुंबई पुलिस की फॉरेंसिक रिपोर्ट, पीएम रिपोर्ट और दर्ज किए गए गवाहों के बयान की कॉपी जल्द से जल्द भेजने को कहेगी

ये भी कहा जा रहा है कि एसआईटी मुंबई के बांद्रा स्थित सुशांत के घर का भी मुआयना करेगी जहां सुशांत की लाश पंखे से लटकी मिली थी. खास बात ये है कि सीबीआई के साथ मौके पर उनकी फॉरेंसिक टीम भी होगी, जो एक बार फिर से मौका-ए-वारदात से सुराग तलाशने की कोशिश करेगी. सुशांत सिंह राजपूत ने सुशांत के कत्ल का शक जाहिर किया है लिहाजा एसआईटी शक को मद्देनजर रखते हुए फ्लैट के कमरे में क्राइम सीन भी रिक्रिएट करेगी. साथ ही डमी टेस्ट भी किया जाएगा. इसके अलावा उस दिन घर में मौजूद सभी लोगों का बयान भी नए सिरे से दर्ज किया जाएगा और रिया चक्रवर्ती और उनके परिवार से भी पूछताछ होगी.

CBI Inquiry in SUshant Case: सुशांत सिंह राजपूत केस में सुप्रीम कोर्ट ने दी सीबीआई जांच को मंजूरी, बिहार पुलिस की एफआईआर को माना सही, मुंबई पुलिस को सहयोग करने का आदेश

Mahesh Bhatt Sexual Harassment Case: यौन शोषण केस में बोले महेश भट्ट- मैं तीन बेटियों का पिता हूं, मेरे नाम का गलत इस्तेमाल हुआ

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर