नई दिल्ली: आज यानी 11 अगस्त को इस साल का पांचवा और अंतिम सूर्यग्रहण हैं. हालांकि 2018 का पहला सूर्यग्रहण फरवरी में हुआ था, दूसरा सूर्यग्रहण जुलाई में और तीसरा सूर्यग्रहण अगस्त हुआ था. अब साल का पांचवा यानी आखिरी सूर्यग्रहण 11 अगस्त को है. आपको बता दें कि इस साल 2 बार चंद्रग्रहण हुआ. पहला चंद्रग्रहण 31 जनवरी में और दूसरा चंद्रग्रहण 27 जुलाई को हुआ था.

सूर्यग्रहण में रखें इन बातों का खास ख्याल
11 अगस्त को इस साल का आखिरी सूर्य ग्रहण पड़र रहा है. वैज्ञानिकों के मुताबिक सूर्य ग्रहण भारतीय समयानुसार दोपहर 1 बजकर 32 मिनट से शुरू होगा और शाम 5 बजे यह समाप्त हो जाएगा. इस बार का सूतक 12 घंटे से पहले लग जाएगा. और 1 बजकर 32 मिनट से सूतकाल शुरू होगा.सूर्य ग्रहण और चंद्रग्रहण खगोलीय घटनाएं हैं. भारत में इन घटनाओं को ज्योतिष के हिसाब से काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. इस दौरान कई तरह के बचाव और व्रत आदि करने होते हैं.

सूर्य ग्रहण को लेकर अलग-अलग जगहों पर मान्यताएं हैं. भारत में कहा जाता है कि खाने की बनी हुई चीजों में तुलसी के पत्ते डालने चाहिए. वैज्ञानिकों का कहना है कि तुलसी के पत्ते भोजन में डालने से हानिकारक तरंगों से खाना को दूषित होने से बचाया जाता है. मुख्य रूप से दूध में तुलसी के पत्ते डालने चाहिए. सूर्य ग्रहण के समय गंगाजल का भी प्रयोग करना शुभ माना जाता है. अगर घर में पानी रखा है तो उस में तोड़ा गंगाजल मिला लेना चाहिए. सूर्य ग्रहण होने के बाद पूरे घर में झाडू लगाकर गंगाजल का छिड़काव करना चाहिए. सूर्य ग्रहण के समय भोजन करना सही नहीं माना जाता है. इसलिए अगर कुछ खाना या पीना हो तो या तो सूर्य ग्रहण से पहले खा लें या बाद में. इस दौरान खाने से बचना चाहिए.

Surya Grahan 2018: साल का आखिरी सूर्यग्रहण शनिवार को, जानिए भारत में क्या होगा इसका प्रभाव

Sawan Hariyali Amavasya 2018: 13 अगस्त को हरियाली अमावस्या, जानिए पूजा विधि, महत्व और शुभ मुहूर्त

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App