नई दिल्लीः सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो जारी होने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. पाकिस्तान पहले की तरह ही सर्जिकल स्ट्राइक की खबरों का खंडन कर रहा है. वह इसे भारत की कल्पना बता रहा है लेकिन इस बीच मिली जानकारी के अनुसार, ऑपरेशन का वीडियो जारी होने के बाद पाकिस्तानी आर्मी ने आतंकियों के लिए फरमान जारी किया है और ये फरमान है भारत में दहशत फैलाने का यानी देश में बड़े आतंकी हमले करने का.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जुलाई के आखिरी तक पाकिस्तानी आर्मी आतंकियों के साथ मिलकर भारत में बड़ा आतंकी हमला प्लान करने की तैयारी कर रही है. बताया जा रहा है कि भारत की ओर से सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो जारी होने के बाद पाकिस्तानी सेना काफी दबाव में आ गई है. जिसे लेकर पाकिस्तानी एजेंसियां आतंकियों पर दबाव बना रही हैं. आतंकियों से भारत और सीमावर्ती इलाकों में बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने के लिए कहा जा रहा है.

इस जानकारी के बाद भारतीय सेना खासा अलर्ट हो गई है. सेना ने आतंकियों के मंसूबों को पूरी तरह से नेस्तनाबूद करने का मन बना लिया है. पाकिस्तानी आर्मी और आतंकियों के नापाक इरादों के बावजूद घाटी में सेना आतंकियों की कमर तोड़ रही है. सेना द्वारा चलाए जा रहे ऑपरेशनों में आतंकियों का सफाया किया जा रहा है. बता दें कि भारतीय सेना ने 28-29 सितंबर, 2016 की दरमियानी रात पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था.

करीब 21 महीने बाद सर्जिकल स्ट्राइक का एक वीडियो जारी किया गया. करीब 8 मिनट के वीडियो में दो कैमरों की नजर से ऑपरेशन को अंजाम देते हुए दिखाया गया. सेना ने पीओके में आतंकियों के कई लॉन्चिंग पैड्स को तहस-नहस कर दिया. सर्जिकल स्ट्राइक में करीब 40 आतंकी मारे गए थे. जम्मू-कश्मीर के उरी में हुए आतंकी हमले के 10 दिन बाद सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया गया था. पीएम नरेंद्र मोदी, तत्कालीन रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर, एनएसए अजीत डोवाल और डीजीएमओ रणबीर सिंह ने इस ऑपरेशन की मॉनिटरिंग की थी कि इसे कैसे अंजाम दिया जाएगा.

सर्जिकल स्ट्राइक वीडियो से नरेंद्र मोदी सरकार ने 25 जुलाई के पाकिस्तान संसदीय चुनाव में बढ़ा दी गर्मी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App