नई दिल्ली. अयोध्या जमीन विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में बहस पूरी हो चुकी है. इस मामले में आखिरी 40वें दिन चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने राम जन्मभूमि- बाबरी मस्जिद जमीन विवाद मामले में सुनवाई खत्म कर दी है. चीफ जस्टिस के 17 नवंबर को रिटायरमेंट से पहले अयोध्या राम मंदिर को लेकर फैसला आ जाएगा. सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने फिलहाल फैसला सुरक्षित रख लिया है. सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों को कहा कि मोल्डिंग ऑफ रिलीफ पर तीन दिनों में लिखित जवाब कोर्ट में दें. वहीं मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने इकबाल की गजल मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना, हिंदी हैं हम वतन है, हिंदुस्थान हमारा, पढ़कर अपनी बहस खत्म की और सुप्रीम कोर्ट से कहा कि वे हमें प्रोटेक्ट करें.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने पूर्व में बताया था कि अयोध्या मामले में सुनवाई 17 अक्टूबर को पूरी कर दी जाएगी. कोर्ट ने सभी पक्षों को दलील देने के लिए गुरुवार तक का समय दिया था. मगर सोमवार को कोर्ट की तरफ से कहा गया कि बुधवार यानी 16 अक्टूबर को ही इस मामले की बहस पूरी कर दी जाएगी.

बुधवार सुबह जब अयोध्या जमीन विवाद मामले की संविधान पीठ ने बहस शुरू की तो बता दिया था कि शाम 5 बजे तक बहस खत्म कर दी जाएगी. कोर्ट ने एक घंटे पहले यानी चार बजे ही बहस खत्म कर दी.  

सुप्रीम कोर्ट में बुधवार 16 अक्टूबर 2019 को अयोध्या केस में आखिरी दिन की सुनवाई में क्या-क्या हुआ, किस पक्ष ने क्या दलील दी और जस्टिस ने क्या कहा, यहां पढ़ें मिनट टू मिनट  पूरी सुनवाई-

Ayodhya Ram Janmbhoomi Babri Masjid Case SC 40th Day Hearing: अयोध्या केस में 40वें दिन की सुप्रीम कोर्ट में पूरी सुनवाई

Also Read ये भी पढ़ें-

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या राम मंदिर बाबरी मस्जिद केस के आखिरी दिन की सुनवाई में मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने हिंदू महासभा के विकास सिंह का पेश जन्मभूमि नक्शा फाड़ा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App