Thursday, December 8, 2022

एमसीडी चुनाव 2022 नतीजे

एमसीडी चुनाव  (250 / 250)  
BJP - 104
CONG - 09
AAP - 134
OTH - 03

लेटेस्ट न्यूज़

Time मैगज़ीन के पर्सन ऑफ द ईयर बने यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की

0
नई दिल्ली : यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की को विश्व प्रसिद्ध पत्रिका टाइम ने पर्सन ऑफ द ईयर 2022 बनाया है. बता दें, हर साल...

उत्तराखंड : कोर्ट ने Facebook पर लगाया 50 हजार का जुर्माना, जानिए पूरा मामला

0
नैनीताल : बुधवार (7 दिसंबर) को नैनीताल हाईकोर्ट ने फेसबुक पर 50 हजार का जुर्माना लगाया है. ये जुर्माना सही समय पर जवाब दाखिल...

हैदराबाद : देह व्यापर में धकेली जा रही थीं 14 हज़ार लड़कियां, ऐसे पकड़ा...

0
Hyderabad: हैदराबाद की साइबराबाद पुलिस को देह-व्यापर के गोरकधंधे में एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई है. पुलिस ने वेश्यावृत्ति का राजफास करते हुए 17...

एक्शन में मायावती: ब्राह्मण चेहरा माने जाने वाले पूर्व मंत्री नकुल दुबे का पार्टी से कटा पत्ता

लखनऊ: बहुजन समाजवादी पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते पूर्व मंत्री नकुल दुबे को निकाल दिया है। इस बात की जानकारी उन्होंने ट्वीट कर साझा की है. मायावती के इस कदम पर नकुल का कहना है कि उन्हें भी निष्कासन की जानकारी मिली है और वे इस पर अभी कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। इस समय बसपा सुप्रीमो विधानसभा चुनाव में हार के कारणों की समीक्षा कर रही हैं,नकुल दुबे को प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन की तैयारियों की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

बसपा सुप्रीमो मायवती ने ट्वीट कर कहा कि नकुल दुबे को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त रहने की वजह से निष्कासित किया गया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, ‘श्री नकुल दुबे (लखनऊ) बीएसपी पूर्व मंत्री को, पार्टी में अनुशासनहीनता अपनाने व पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने के कारण, इनको बीएसपी से निष्कासित कर दिया गया है।’

नकुल दुबे बहुजन समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र के जाने से पहले जिलों में जाकर तैयारियां कराते थे। उन्हें पार्टी का दूसरा बड़ा ब्राह्मण चेहरा माना जाता रहा है। नकुल को विधानसभा चुनाव में गलत फीडबैक देने के चलते पार्टी से बाहर किया गया है। पूर्व मंत्री नकुल दुबे से जुड़े लोगों का कहना है कि वो एक-दो दिन में अपने समाज के साथ बैठक कर आगे की रणनीति का खुलासा करेंगे। वे भाजपा या समाजवादी पार्टी का दामन भी थाम सकते हैं। बता दें नकुल दूबे साल 2007 में पहली बार लखनऊ महोना (अब बख्शी का तालाब) विधानसभा सीट से चुनाव जीतकर मायावती सरकार में नगर विकास मंत्री बने। जब वे मंत्री बने थे तब उनकी उम्र अन्य मंत्रियों से बेहद कम थी या यू खले की वे बेहद छोटे या युवा रहते हुए मंत्री पद पर विराजमान हो गए थे. बहुजन समाजवादी पार्टी में रहते हुए पार्टी ने उन्हें जो भी जिम्मेदारियां दी उनका उन्होंने सम्मान किया और बखूबी निभाया और कभी मुंह तक नहीं खोला। वह वर्ष 2012 व 2017 का विधानसभा चुनाव बख्शी का तालाब विधानसभा सीट और वर्ष 2019 सीतापुर लोकसभा का चुनाव लड़ चुके हैं।

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

Latest news