नई दिल्ली. सोमवार को देश के पहला बायो ईंधन विमान ने उड़ान भरी. भारतीय पेट्रोलियम संस्थान ने वैज्ञानिकों द्वारा तैयार किए गए जेट्रोफा ईंधन यानी रत्न जोत से स्पाइसजेट विमान ने देहरादून से दिल्ली उड़ान भरी. ट्रायल के तौर पर शुरू किए इस विमान को देहरादून में जौलीग्रांट एयरपोर्ट से उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने विदा किया और दिल्ली में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, सुरेश प्रभु, डॉ हर्षवर्धन समेत कई मंत्रियों ने स्वागत किया.

स्पाइसजेट की इस उड़ान में जो बायोफ्यूल इस्तेमाल हुआ वह जैट्रोफा के तेल व हाइड्रोजन के मिश्रण से तैयार किया गया. इसमें 25 फीसदी बायोफ्यूल और 75 फीसदी टरबाइन फ्यूल का मिश्रण था. जैट्रोफा ईंधन को इंडियन इस्टीट्यूट ऑफ पेट्रोलियम, देहरादून में तैयार किया गया. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह राव ने कहा कि जैव ईंधन से उड़ान भरने वाला देश का पहला विमान है. सीएम ने कहा कि जेट्रोफा ईंधन से भविष्य में उड़ान का रास्ता खुलेगा और विदेशी मुद्रा की बचत होगी.

दिल्ली में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी,केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन, केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु समेत कई केंद्रीय मंत्री मौजूद थे. केंद्रीय सड़क परिवहन एवं पोत परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इस कामयाबी पर स्पाइसजेट की फोटो शेयर कर ट्विटर पर लिखा कि देश के एविएशन क्षेत्र में आज से नई क्रांति की शुरुआत हो गई है. देश में पहली बार बायो जेटफ्यूल पर चलने वाला हवाई जहाज देहरादून से दिल्ली पहुंचा. इसके सफल परीक्षण से भारत अब अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों की कतार में आ गया है. बायो जेटफ्यूल 20% तक उड़ान खर्च कम करेगा. बता दें जेट्रोफ ईंधन से लंदन में उड़ान के बाद देश का पहला विमान है जो जैव ईंधन की मदद से उड़ा.

उमा भारती का राहुल गांधी पर हमला, कहा- दिमागी रूप से कमजोर इंसान चला रहा कांग्रेस

बिहार में NDA को लग सकता है झटका, उपेंद्र कुशवाहा के खीर बनाने वाले बयान पर बोले तेजस्वी यादव- यह एक अच्छा व्यंजन होगा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App