लखनऊ. लोकसभा चुनाव 2019 में उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी और मायावती की बहुजन समाज पार्टी का गठबंधन फेल हुआ. नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी ने यूपी की 80 लोकसभा सीटों में से 62 पर जीत दर्ज की वहीं सपा और बसपा को मिलाकर भी कुल 15 सीटें मिलीं. बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने सोमवार को कहा था कि सपा से गठबंधन से उनकी पार्टी को नुकसान हुआ. सूबे में आगामी विधानसभा उप चुनाव में बीएसपी ने अकेले लड़ने का निर्णय लिया है. अब सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी माना है कि यूपी में महागठबंधन फेल हो गया. ईद के मौके पर लखनऊ के ऐशबाग स्थित ईदगाह पर लोगों को मुबारकबाद देने पहुंचे अखिलेश यादव ने कहा, “इंजीनियरिंग का छात्र होने के नाते मैंने एक प्रयोग किया था. यह जरूरी नहीं है कि प्रयोग सफल ही हों.”

दरअसल मायवती ने सोमवार को पार्टी पदाधिकारियों की बैठक के बाद कहा था कि यूपी में सपा से गठबंधन करने का बीएसपी को कोई फायदा नहीं हुआ. मायावती ने कहा था कि सपा अपना कोर यादव वोटबैंक भी बसपा में ट्रांसफर नहीं करा पाई. मायावती ने तंज कसते हुए कहा था कि अखिलेश तो डिंपल को भी नहीं जिता पाए. मायावती ने गठबंधन के टूटने का औपचारिक ऐलान तो नहीं किया लेकिन यह जरूर साफ किया था कि बीएसपी आगामी विधानसभा उप चुनावों में अकेले चुनाव लड़ेगी. मायावती के बयान के बाद अखिलेश यादव ने कहा था कि उन्हें गठबंधन टूटने की जानकारी नहीं है. अगर वो अकेले चुनाव लड़ना चाहते हैं तो हम भी अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी करेंगे.

2022 में यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी: अखिलेश यादव
गाजीपुर में एसपी कार्यकर्ता की हत्यता के बाद उसके परिजनों से मिलने पहुंचे अखिलेश यादव ने कहा, “लोकसभा चुनाव के बाद सबसे ज्यादा राजनैतिक हत्याएं हो रही हैं. गठबंधन को लेकर यही कहूंगा कि अगर गठबंधन टूटा है तो उस पर बहुत सोच-समझकर विचार करूंगा. हम कुछ कहें, कोई कुछ कहे, आप आकलन करें. उपचुनाव की तैयारी एसपी भी करेगी. 11 सीटों पर वरिष्ठ नेताओं से राय-मशविरा करके पार्टी चुनाव लड़ेगी. रास्ते अलग-अलग हैं तो उसका भी स्वागत और सबको बधाई.” दरअसल, गाजीपुर में एसपी कार्यकर्ता विजय यादव की हत्या हो गई थी. अखिलेश ने कहा कि गठबंधन जरूरी नहीं है. मेरे लिए जरूरी है जिसकी हत्या हुई है उसे न्याय मिले. समाजवादी सरकार थी तो मदद होती थी आज मदद नहीं हो रही है लोगों की. यह सरकार कानून व्यवस्था पर ध्यान नहीं दे रही है. आजमगढ़ से गाजीपुर रवाना होने से पहले भी अखिलेश ने गठबंधन से अलग होने के संकेत देते हुए कहा था कि 2022 में यूपी में एसपी की सरकार बनेगी.

BSP Chief Mayawati on Mahagathbandhan Breakup: सपा अध्यक्ष अखिलेश और डिंपल यादव ने बहुत सम्मान दिया, उनसे रिश्ते अच्छे पर BSP अकेले लड़ेगी विधानसभा उप चुनाव: मायावती

Mayawati BSP Akhilesh SP Alliance Breaking: टूट की कगार पर अखिलेश यादव की सपा और मायावती की बसपा का महागठबंधन, यूपी में अकेले उप-चुनाव लड़ने की तैयारी में बीएसपी !

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App