लखनऊ. लोकसभा चुनाव 2019 के लिए बहुजन समाज पार्टी (BSP) और समाजवादी पार्टी (SP) ने गठबंधन का औपचारिक ऐलान कर दिया है. लखनऊ के ताज होटल में आयोजित संयुक्त प्रेस क्राफ्रेंस में बसपा अध्यक्ष मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गठबंधन की आधाकारिक घोषणा कर दी. प्रेस कॉफ्रेंस में बसपा अध्यक्ष मायावती ने बताया कि लोकसभा चुनाव 2019 में सपा और बसपा उत्तर प्रदेश में 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी. जबकि अमेठी और रायबरेली सीट पर कोई प्रत्याशी नहीं उतारा जाएगा.

बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रेस काफ्रेंस को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की नींद उड़ाने वाला प्रेस क्राफेंस बताया. गठबंधन की घोषणा करते हुए बसपा अध्यक्ष मायावती ने बीजेपी पर करारा हमला करते हुए कहा बीजेपी धूर्त जातिवादी राजनीति कर रही है. नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसलों से बीजेपी ने गरीब और कमजोर वर्ग के लोगों की कमर तोड़ दी. मायवती ने कहा कि केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार ने घोर चुनाव वादाखिलाफी किया है. बीजेपी का रवैया तानाशही है. 

मीडिया को संबोधित करते हुए मायवती ने गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं किए जाने का कारण भी बताया. मायावती ने कहा कि आजादी के बाद से लंबे समय तक कांग्रेस ने देश में एकछत्र राज किया, इसमें गरीब, किसान, दलित परेशान रहे. कांग्रेस के राज में देश में गरीबी, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार बढ़ा. कांग्रेस की नाकामियों के कारण ही सपा, बसपा जैसी अन्य पार्टियां बनी. मायावती ने सपा-बसपा गठबंधन को नया राजनीतिक क्रांति बताया. अपने संबोधन में मायावती ने गेस्ट हाउंस कांड को भी याद किया. बता दें कि गेस्ट हाउंस कांड में मायावती के साथ बदसलुकी की गई थी.

कांग्रेस पर करारा हमला करते हुए मायावती ने कहा कि कांग्रेस से गठबंधन का लाभ सपा – बसपा जैसी पार्टियों ने नहीं मिलता है. इसके उदाहरण को गिनाते हुए मायावती ने कहा कि हमारी पार्टी के वोटर कांग्रेस को मत देते हैं. लेकिन कांग्रेस के वोटर हमें वोट नहीं देते. ऐसे में कांग्रेस से गठबंधन करने का कोई लाभ नहीं है. अपने संबोधन में मायावती ने राफेल डील का जिक्र करते हुए कहा कि राफेल डील में हुए भ्रष्टाचार के कारण बीजेपी को हार मिलेगी.

SP BSP Seat Formula: 2019 लोकसभा चुनाव के लिए अखिलेश यादव, मायावती का गठबंधन, 38-38 सीटों पर लड़ेंगी सपा-बसपा 

SP BSP Alliance: 2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लिए सदमा साबित होगा अखिलेश यादव की सपा और मायावती की बसपा का गठबंधन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App