नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को मुख्य सचिव को आदेश दिए हैं कि सौम्या विश्वनाथन हत्या मामले के लिए एक विशेष वकील की नियुक्ति की जाए. बुधवार को सौम्या के माता-पिता ने अरविंद केजरीवाल को इस मामले में जल्द सुनवाई करवाने के लिए गुजारिश की थी. सौम्या विश्वनाथन की 10 साल पहले गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. 10 साल से न्याय के इंतजार में बैठे सौम्या के माता-पिता ने बुधवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री का दरवाजा खटखटाया. उन्होंने मुख्यमंत्री को एक पत्र लिखकर कहा कि हम अधिकारियों द्वारा खोखले आश्वासन से थक गए हैं.

उन्होंने अपने पत्र के जरिए अरविंद केजरीवाल की ओर से एक ठोस जवाब की उम्मीद की है. 2009 में इस मामले में 5 लोगों को हत्या के आरोपों के साथ गिरफ्तार किया गया था. सभी आरोपी अभी भी गिरफ्त में हैं लेकिन दिल्ली साकेत कोर्ट में मामला बेहद धीरे चल रहा है. आरोपियों में रवि कपूर, अमित शुक्ला, बलजीत मलिक, अजय कुमार और अजय सेठी शामिल हैं जिन्हें हत्या की आईपीसी धारा 302 के तहत गिरफ्तार किया गया था. सौम्या के पिता ने अरविंद केजरीवाल को भेजे पत्र में लिखा था कि इतने समय में कोर्ट, जज और वकील एक से ज्यादा बार बदले गए. हम कोर्ट में केस की स्पीड और इसके लिए ना के बराबर की जा रही मेहनत को देखते हुए बेहद परेशान हैं.

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा इस केस के वकील बदले जाने से उन्हें चिंता हो गई है क्योंकि सबसे पहले वकील के मुकाबले बाकि दो वकीलों ने उन्हें केस से जुड़ी जानकारी नहीं दी है. उन्होंने अपने पत्र के अंत में लिखा, ‘हम उम्मीद करते हैं कि आपको उससे ना गुजरना पड़े जिससे पिछले 10 सालों में हम गुजरे हैं. हालांकि कोर्ट का फैसला हमारी बेटी वापस नहीं ला सकता लेकिन हम कोर्ट से वो करने की उम्मीद तो कर सकते हैं जिसके लिए वो बना है- हमारी बेटी को इंसाफ दिलाना. हम अभी तक बेहद शांत और समर्थक रहे. अब उम्मीद है कि सिस्टम हमारी उम्मीदों को तोड़ेगा नहीं.’

Fire in Noida Metro Hospital: नोएडा के मेट्रो हॉस्पिटल में लगी आग, शीशे तोड़ मरीजों को बाहर निकालने के लिए बचाव कर्मी कर रहे कड़ी मशक्कत

Bihar Muzaffarpur Shelter Home Case: मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप मामले में सुप्रीम कोर्ट की नीतीश कुमार सरकार को फटकार, कहा- 2 बजे तक दो जवाब

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App