मुंबई. कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र में एक नई सत्ता के लिए शिवसेना को किसी भी समर्थन देने से इनकार किया है. इस बारे में सूत्रों ने जानकारी दी है और कहा है कि सहयोगी भाजपा पर बाद के लाभ उठाने की उपेक्षा की गई है. दरअसल सोनिया गांधी ने सोमवार शाम को पार्टी के महाराष्ट्र सहयोगी शरद पवार के साथ एक बैठक की, जो राज्य में भाजपा के सत्ता में आने से रोकने के लिए इस तरह के गठबंधन के पक्ष में की गई. हालांकि, इस बारे में कुछ भी नहीं कहा गया था कि बैठक में क्या चर्चा हुई. शरद पवार ने निकट भविष्य में एक और बैठक होने की बात कही, जिससे संकेत मिलता है कि सोमवार की चर्चाओं का अनुकूल परिणाम नहीं आया. मुख्यमंत्री पद को लेकर भाजपा के साथ खींचतान में लगी शिवसेना संकेत दे रही है कि वह शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के साथ सरकार बनाने के लिए तैयार है.

पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने सोमवार को राज्यपाल से मुलाकात की, जिसके दौरान उन्होंने कहा, उन्होंने राज्य की राजनीतिक स्थिति पर चर्चा की. समझा जाता है कि शिवसेना ने एनसीपी को अपने विचारक भेजे हैं. संजय राउत ने पहले शरद पवार से मुलाकात की थी, हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि यह दिवाली के बाद एक शिष्टाचार भेंट थी. रविवार को, शरद पवार के भतीजे और पार्टी के वरिष्ठ नेता अजीत पवार ने कहा कि राउत भी उनके पास पहुंचे थे. बाद में शाम को, कांग्रेस के सूत्रों ने कहा कि सोनिया गांधी ने शिवसेना के साथ किसी भी तरह का व्यवहार नहीं किया है.

हालांकि पार्टी के राज्य नेताओं का एक वर्ग इसके पक्ष में है. सूत्रों ने कहा कि पवार के सुझावों को उन्होंने विनम्र राजनीतिक इनकार दिया है. बैठक के बाद, शरद पवार ने संवाददाताओं से कहा कि शिवसेना-भाजपा का झगड़ा उनका आंतरिक मामला था और शिवसेना ने उन्हें कोई आश्वासन नहीं दिया है. लेकिन उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि उनके पास सरकार में होने के लिए संख्या नहीं है और वह विपक्ष में बैठने के लिए तैयार थे.

Also read, ये भी पढ़ें: Maharashtra Conflict BJP, Shiv Sena Congress NCP Latest Updates: महाराष्ट्र में सत्ता का पेंच उलझा, बीजेपी ने दिया नया ऑफर, शिवसेना मिलेगी राज्यपाल से, सोनिया गांधी और शरद पवार की आज होगी मुलाकात

Maharashtra Congress Shivsena Government Formation: महाराष्ट्र कांग्रेस नेता हुसैन दलवई ने दी सोनिया गांधी को सलाह शिवसेना के साथ बनाए सरकार, संजय राउत ने कहा-सभी कर रहे बात लेकिन बीजेपी-शिवसेना नहीं

BJP Shivsena on Maharashtra President Rule: बीजेपी नेता का दावा- 7 नवंबर तक नहीं बनी सरकार तो महाराष्ट्र में लगेगा राष्ट्रपति शासन, सामना में शिवसेना का तंज- राष्ट्रपति क्या आपकी जेब में है

Shiv Sena BJP Maharashtra Government: शिवसेना का बीजेपी पर फिर हमला, मत पालिए अहंकार को इतना, वक्त के सागर में कईं सिकन्दर डूब गए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App