नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरूवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्यों को संबोधित किया. इस दौरान उन्हें केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर कोरोना से निपटने के लिए आंशिक कदम उठाए जाने का आरोप लगाया. कांग्रेस अध्यक्षा ने कहा कि देश में कोरोना की जांच बहुत कम हो रही है. इस दौरान बीजेपी पर हमला बोलते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि भाजपा देश में नफरत का वायरस फैलाने का काम कर रही है.

बैठक में हिस्सा लेने वाले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि लॉकडाउन की सफलता कोविड-19 से निपटने की सफलता से ही परखी जाएगी. उन्होंने ये भी कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में केंद्र और राज्य सरकारों का सहयोग और उनका आपसी तालमेल बेहद जरूरी है. वहीं सोनिया गांधी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते लगाए गए लॉकडाउन की वजह से पहले चरण में देश के 12 करोड़ लोग बेरोजगार हो गए.

उन्होंने कहा कि किसानों, कामगारो, मजदूरों, प्रवासी मजदूरों और निर्माण क्षेत्र में लगे श्रमिकों को लॉकडाउन की वजह से काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन की वजह से करोड़ों लोगों की आजीविका या तो छिन चुकी है या फिर छीनी जा रहा है लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है कि सरकार ने इस बाबत बेहद आशिंक कदम उठाए हैं.

उन्होंने ये भी कहा कि ऐसे दौर में जब कोरोना के खिलाफ सबको एकजुट होकर लड़ने की जरूर.त है, उस दौर में बीजेपी नफरत और सांप्रदायिक पूर्वाग्रह का वायरस फैला रही है. कांग्रेस अध्यक्षा ने ये भी कहा कि कोरोना की जांच को लेकर भी व्यापक कदम नहीं उठाए गए हैं. उन्होंने कहा कि ये बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि अभी तक पर्याप्त मात्रा में कोरोना की जांच किट उपलब्ध नहीं है और जो उपलब्ध भी हैं वो अच्छी क्वॉलिटी की नहीं है.

What is National Social Assistance Program: कोरोना लॉकडाउन में NSAP के तहत 3 महीने की एडवांस पेंशन भेज रही सरकार, कैसे मिलेगा आपको लाभ

NITI Aayog member on Lockdown: कोरोना को लेकर 3 मई के बाद भी आगे बढ़ सकती है लॉकडाउन की अवधि, नीति आयोग के वरिष्ठ अधिकारी ने दिए संकेत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर