नई दिल्ली. साल 2007 में मक्का मस्जिद ब्लास्ट में एनआईए की स्पेशल कोर्ट ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया. इसके बाद बीजेपी ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा है कि कांग्रेस ने ‘भगवा आंतकवाद’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल करके हिंदुओं का अपमान किया था. इसके लिए सोनिया और राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए इस फैसले को अपना हथियार बनाते हुए कहा कि वहां की जनता कांग्रेस को हराकर अपने अपमान का बदला लेगी.

11 साल बाद आए इस फैसले के बाद बीजेपी कांग्रेस पर हावी हो गई. संबित पात्रा ने इस मामले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि कोर्ट के फैसले पर कांग्रेस नेताओं के बयान शर्मनाक हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता अब कह रहे हैं कि एनआईए ने इस मामले की पैरवी ठीक तरीके से नहीं की. हाल ही में जब 2जी घोटाले को लेकर फैसला आया था तब कांग्रेस ने इस तरह का कोई बयान नहीं दिया था. संबित पात्रा ने कांग्रेस पर दोहरा रवैया अपनाने का आरोप भी लगाया.

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा यहीं नहीं रुके उन्होंने साल 2013 में कांग्रेस के अधिवेशन को याद करते हुए कहा कि इस अधिवेशन में तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, तत्कालीन कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे मौजूद थे. अधिवेशन के मंच से सुशील कुमार शिंदे ने हिंदू आतंकवाद/सैपरन टैरर शब्द का इस्तेमाल किया था. उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि चंद वोटों की खातिर उन्होंने हिंदुओं का अपमान किया था. पात्रा ने कहा कि शिंदे ने ये सब सोनिया और राहुल गांधी से सीखा है इसलिए उन्हें इस मामले पर माफी मांगनी चाहिए.

मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस: स्वामी असीमानंद समेत सभी आरोपी NIA कोर्ट से बरी

बाबरी मस्जिद के पक्षकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- एक बार मस्जिद बन गई तो उसे तोड़ा नहीं जा सकता

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App