नई दिल्ली. भारतीय सेना ने सोमवार को एक ट्वीट करके कहा कि उसे नेपाल में लोककथाओं के एक पौराणिक हिममानव येति के रहस्यमय पैरों के निशान मिले हैं. साथ ही अपने दावे के लिए उन्होंने इसकी फोटो भी शेयर की है. ट्विटर पर उन्होंने लिखा, पहली बार भारतीय सेना के पर्वतारोहण अभियान दल ने 9 अप्रैल 2019 को मकालू बेस कैंप के पास 32×15 इंच के करीब नापे हुए पौराणिक जानवर येति के रहस्यमय पैरों के निशान देखे हैं. ये मायावी हिममानव अतीत में केवल मकालू-बारुण नेशनल पार्क में देखा गया है.

सेना के येति पर ट्वीट ने सोमवार को सोशल मीडिया पर काफी ध्यान आकर्षित किया. इसी के बाद यति शीर्ष ट्रेंडिंग विषयों में शामिल हो गया. जहां कई सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं ने सेना के दावों के लिए सेना को ट्रोल किया, वहीं कुछ ने बधाई दी है. बीजेपी के पूर्व सांसद तरुण विजय ने सेना को जवाब देते हुए कहा, बधाई हो, हमें हमेशा आप पर गर्व है. भारतीय सेना पर्वतारोहण अभियान दल को सलाम. लेकिन कृपया, आप भारतीय हैं येति को दानव ना कहें. उनके प्रति सम्मान दिखाओ. यदि आप कहते हैं कि वह एक ‘स्नोमैन’ है. सपा अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा- लगता है कि अच्छे दिन का दावा येति से भी ज्यादा छलावा है.

बता दें कि येति की कथा या घृणित हिममानव के बारे में 1920 के दशक से चर्चा है. हालांकि इस वानर जैसे के प्राणी हिमालय क्षेत्र में घूमने के बारे में लिखा है लेकिन इसे कभी भी देखा नहीं गया है और इसका कोई सबूत नहीं है. यही कारण है कि सोशल मीडिया पर इसके लेकर अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया आ रही हैं. लोगों ने इसे भारतीय सेना की बड़ी खोज बताया है तो कुछ यूजर्स ने इसे भारतीय सेना द्वारा मजाक बताया है. वहीं कुछ ने तो हिममानव के प्रति संवेदना जाहिर की है और उसे दानव ना कहने की अपील की है.

पढ़े सोशल मीडिया यूजर्स के ट्वीट

आर्मी को दी बधाई
अभिनेता सिद्धार्थ ने कहा कि बेहद दुख की बात है कि लोग भारतीय आर्मी से सबूत मांग रहे हैं.

आर्मी के दावे को बताया मजाक

Yeti Makalu Indian Army Himalaya Photo: भारतीय आर्मी ने फोटो शेयर कर किया दावा, हिमालय में दिखे येती हिममानव के पैरों के निशान

Rishi Kapoor Health Update: ऋषि कपूर ने जीती कैंसर से जंग, फिल्म निर्देशक राहुल रवैल ने किया खुलासा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App