नई दिल्ली. मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके भारतीय आर्मी ने कहा कि पुलवामा आतंकी हमले में पाकिस्तान आर्मी भी मिली हुई थी. इसके बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इन आरोपों पर अपना पक्ष रखा. उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार पाकिस्तान पर बिना किसी सबूत के आरोप लगा रही है. उन्होंने भारत सरकार से ये साबित करने के लिए सबूत मांगें हैं कि पुलवामा आतंकी हमले में पाकिस्तान आर्मी या सरकार का हाथ था.

इमरान खान ने इसके साथ ही भारत को चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि यदि पुलवामा आतंकी हमले के जवाब में भारत ने पाकिस्तान पर किसी भी तरह का हमला किया तो उनकी ओर से भी जवाबी कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि लड़ाई शुरू करना आसान है, लेकिन खत्म करना मुश्किल. सिर्फ बातचीत से ही मसला सुलझ सकता है. बाकि अल्लाह जानते हैं कि युद्ध कहां खत्म होगा.

इमरान खान के इस बयान के बाद गुस्साए लोगों ने इमरान खान को सोशल मीडिया के जरिए जवाब देना शुरु कर दिया है. कुछ लोगों ने सवाल किया है कि इमरान खान सबूत का क्या करेंगे? लोगों का कहना है कि पहले भी 26/11 जैसे कई मामलों में पाकिस्तान को सबूत दिए गए लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई तो इस बार पाकिस्तान सरकार क्या कर लेगी? वहीं कुछ लोगों का कहना है कि अब सबूत नहीं मुंह तोड़ जवाब देने का वक्त. लोगों ने इमरान खान को सलाह दी है कि कुछ दिन और रुक जाएं सही समय आते ही उन्हें मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा.

यहां पढ़ें लोगों के ट्वीट्स

Imran Khan on Pulwama Attack: पुलवामा आतंकी हमले पर बोले इमरान खान- बिना सबूत नरेंद्र मोदी सरकार ने लगाए पाकिस्तान पर आरोप

Indian Army Press Conference: सेना की चेतावनी- मां-बाप आतंकी बने बच्चों से कराएं सरेंडर वरना मौत के घाट उतार देंगे