केरल: चिलचिलाती धूप से लोगों का पसीना छूट रहा है, आसमान से मानो जैसे आग बरस रही हो. ऐसे में लोगों के लिए एक राहत की खबर सामने आ रही है, दक्षिण-पश्चिम मानसून जल्द ही केरल तट पर दस्तक देगा. मौसम विभाग ने 28 मई 2018 को इस बात की जानकारी दी थी कि अगले 24 घंटे यानी मंगलवार तक केरल तट पहुंचने का अनुमान है. राजधानी दिल्ली में ही पारा 48 डिग्री के करीब पहुंच चुका है. हर दिन बढ़ते तापमान से लोग परेशान हैं. पिछले कुछ दिनों से उत्तर भारत में लगातार पारा चढ़ता जा रहा है.

गौरतलब है कि वहीं दूसरी ओर निजी एजेंसी स्काईमेट ने मानसून के सोमवार यानी की 28 मई 2018 तक केरल पहुंचने का दावा किया था. कुछ समय पहले मौसम वैज्ञानिकों ने बताया था कि देश के उत्तरी इलाकों में आंधी-तूफान के असर की वजह से इस साल मानसून चार से पांच दिन पूर्व ही दस्तक दे सकता है. आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि वैसे केरल में आमतौर पर मानसून 1 जून या 2 जून तक आता है.

कल शाम आए आंधी-तूफान ने तीन राज्यों यूपी, बिहार और झारखंड में कहर बरपाया. आंधी तूफान की वजह से 40 लोगों ने जान गंवाई. यूपी में 12, बिहार में 17 तो झारखंड में 12 लोगों को जान गंवानी पड़ी. यूपी में सबसे ज्यादा रायबरेली में चार लोगों की मौत हुई वहीं बिहार के गया और कटिहार में ज्यादा तबाही मची. झारखंड के चतरा में 4 लोगों को जान गंवानी पड़ी तो झारखंड की राजधानी रांची में तीन लोगों की मौत हो गई वहीं झारखंड राज्य में 28 लोगों के घायल होने की खबर है. 

इसी के बाद देश में बारिश का सुहाना मौसम शुरू होता है और लोगों को चिलचिलाती गर्मी से थोड़ी राहत मिलती है. आइएमडी ने 28 मई 2018 को सुबह 8.15 बजे के मौसम बुलेटिन में इस बात का जिक्र किया कि मानसून अगले 24 घंटे में केरल पहुंचेगा. साथ ही आइएमडी के अतिरिक्त महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने भी इस बात की पुष्टि की है. झारखंड के विभिन्न हिस्सों में आंधी-तूफान की वजह से 12 लोगों के मारे जाने और 28 लोगों के घायल होने की खबर है. दक्षिण-पश्चिम मानसून केरल और कर्नाटक में अगले 24 घंटे में पहुंचेगा तो वहीं अन्य राज्यों में इसके जल्द पहुंचने की संभावना है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App