श्रीनगर. सीपीआई (एम) के महासचिव सीताराम येचुरी अगस्त की शुरुआत में अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद गुरुवार को केंद्र शासित प्रदेश में जाने वाले जम्मू और कश्मीर के बाहर से पहले राजनीतिक नेता होंगे. सिताराम येचुरी सुप्रीम कोर्ट से अनुमति लेकर आज जम्मू-कश्मीर जाएंगे. सरकार द्वारा केंद्र शासित प्रदेश से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद घाटी में जाने वाले वो पहले नेता होंगे. सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के सहयोगी यूसुफ तारिगामी से मिलने की अनुमति दी है, जिनकी स्वास्थ्य की स्थिति राजनीतिक नेताओं के हिरासत में लिए जाने के बाद से अज्ञात है. घाटी में जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले कानून के स्क्रैपिंग के दौरान राजनेताओं को सरकार द्वारा हिरासत में लिया गया था ताकि इलाके में तनाव ना फैलाया जा सके.

सीताराम येचुरी के दौरे की बात करे तो सबसे पहले, इस बात पर कोई स्पष्टता नहीं है कि वह कितनी दूर जा सकते हैं और उन्हें कितने समय तक वहां रहने दिया जाएगा. लिहाजा, उन्होंने रिटर्न टिकट नहीं खरीदा है और अगर अधिकारी उन्हें श्रीनगर से बाहर करना चाहते हैं, तो उन्हें उनके परिवहन और हवाई किराया प्रदान करना चाहिए. श्रीनगर जाने के लिए कई हफ्तों में येचुरी का यह दूसरा प्रयास होगा. पिछले शनिवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी सहित वरिष्ठ राजनीतिक नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल कश्मीर गया था, लेकिन उन्हें हवाईअड्डे से ही अगली फ्लाइट से वापस भेज दिया गया था.

येचुरी ने यात्रा करने की अनुमति मिलने के कुछ घंटे बाद ट्वीट किया था कि सुप्रीम कोर्ट ने मुझे श्रीनगर जाने और कॉम यूसुफ तारिगामी को देखने के लिए उनके स्वास्थ्य की स्थिति की जानकारी लेने की अनुमति दी है. एक बार जब मैं उनसे मिलूंगा, वापस आऊंगा और रिपोर्ट करूंगा, तो मैं और अधिक विस्तृत बयान दूंगा. जब येचुरी से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि वह श्रीनगर से लौटने के बाद सुप्रीम कोर्ट में एक विस्तृत हलफनामा दायर करेंगे. सुप्रीम कोर्ट ने मुझे राजनीति नहीं करने के लिए कहा है. मैं अदालत के आदेश का पालन करूंगा.

Subramanian Swamy On POK: बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा गुलाम कश्मीर को भारत में मिलाने में मदद करे अमेरिका, नरेंद्र मोदी सरकार को दी करांची के लिए जल मार्ग बंद करने की सलाह

Narendra Modi Cabinet Approved 75 Medical colleges: नरेंद्र मोदी सरकार का बड़ा फैसला, प्रकाश जावड़ेकर बोले- जल्द खोले जाएंगे 75 नए मेडिकल कॉलेज

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App