सीतापुर. राजनीतिक दल अकसर एक दूसरे पर जुबानी जंग के जरिए आरोप प्रत्यारोप लगाते नजर आते हैं. लेकिन एक ही पार्टी के दो चुने हुए जनप्रतिनिधि आपस में ही उलझ जाएं ऐसा कम ही होता है. उत्तर प्रदेश के सीतापुर में ऐसा ही नजारा देखने को मिला है. यहां भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद और विधायक के समर्थक कंबल वितरण के दौरान शनिवार को आपस में भिड़ गए. मामला यहां तक बढ़ गया कि धौरहरा से बीजेपी सांसद रेखा वर्मा और महोली से बीजेपी विधायक शशांक त्रिवेदी के बीच भिड़ंत हो गई. इस दौरान सांसद जूती उतारकर विधायक पर टूट पड़ीं. इतना ही नहीं विधायक और उनके समर्थकों पर सांसद रेखा वर्मा इस तरह गुस्से में आ गईं कि उन्होंने एसडीएम को भी धमकी दे डाली.

दरअसल, सीतापुर की महोली तहसील कार्यालय एसडीएम ब्रजपाल सिंह ने कंबल वितरण कार्यक्रम आयोजित किया था. इस कार्यक्रम में रेखा वर्मा मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित थीं. कंबल वितरण के दौरान विधायक शशांक त्रिवेदी भी अपने करीब दर्जनभर समर्थकों के साथ पहुंच गए. उन्होंने अपने समर्थकों को भी तहसील सभागर में बुला लिया और खुद सांसद के बगल में बैठ गए. सांसद ने जब इस बात का विरोध किया तो विधायक ने कहा कि क्षेत्रीय जनता है और किसी को अंदर आने से नहीं रोका जा सकता. सांसद ने ज्यादा भीड़ का हवाला देते हुए दिक्क्त होने की बात कही. इसी बात पर सांसद और विधायक में वाद विवाद बढ़ गया.

झगड़े के दौरान विधायक के गनर ने सांसद के समर्थकों को पीट दिया. इस वजह से सांसद का पारा चढ़ गया और उन्होंने सैंडल निकालकर एसडीएम और विधायक की ओर फेंक दी. दूसरी बार फिर से मारने का प्रयास किया तो उनका हाथ पकड़ लिया गया. इस झगड़े को देखकर एसडीएम किनारे हो गए जबकि विधायक ने हंगामा शुरू कर दिया. इस मामले में विधायक और सांसद दोनों की तरफ से ही शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है. एसडीएम ने कहा कि अगर शिकायत हुई तो कार्रवाई की जाएगी.

पुलिस से पिटते युवक का वीडियो शेयर कर बोले तेजस्वी यादव- बिहार में महादलितों का यही हाल कराते हैं नीतीश कुमार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App