नई दिल्लीः हरियाणा के महेन्द्रगढ़ जिले में बस स्टैंड से सीबीएसई टॉपर रही 19 वर्षीय कॉलेज छात्रा का अपहरण कर गैंगरेप करने के मामले में पुलिस ने आरोपियों की धड़पकड़ के लिए विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया गया है. गैंगरेप की दर्दनाक घटना के दो दिन बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने के बाद परिवार के बढ़ते गुस्से और मीडिया में हो रही चर्चा के बाद इस एसआईटी का गठन किया गया है जिसकी अध्यक्षता मेवात की एसपी नाजनीन भसीन करेंगी.

मामला हरियाणा के महेंद्रगढ़ का है जहां बस स्टैंड के पास से सीबीएससी की टॉपर रही 19 वर्षीय छात्रा का तीन युवकों ने अपहरण कर लिया था जिसके बाद उसे नशीला पदार्थ देकर तीनों युवक रेवाड़ी से 40 किलोमीटर दूर नया गांव के एक घर में लेकर गए जहां छात्रा के साथ कथित तौर पर 12 लोगों ने कई घंटो तक बारी-बारी से रेप किया. जिसके कई घंटे बाद आरोपी युवकों ने छात्रा को नशे की हालत में उसी बस स्टैंड पर लाकर छोड़ दिया और उसके परिवार को खबर कर दी. आरोपी उसी गांव के हैं जिस गांव की छात्रा है जिसके चलते उन्होंने छात्रा के घर फोन कर उसके बस स्टैंड पर पड़े होने की जानकारी दी थी.

पुलिस में दर्ज गैंगरेप की एफआईआर में तीन लोगों का नाम दिया लिखा गया है जिनकी पहचान पंकज (इंडियन आर्मी में कार्यरत) निशु और मनीष के रूप में की गई है. जिनकी दो दिन बीत जाने के बाद भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. मिली जानकारी के मुताबिक छात्रा रेलवे की परीक्षा की तैयारी के लिए कोचिंग क्लास जाने के लिए बुधवार को महेंद्रगढ़ से बस में चढ़ी थी. शुरुआती जांच में पता लगा है कि छात्रा के रेप की वारदात पहले ही प्लान की जा चुकी थी जिसमें तीनों आरोपियों ने छात्रा की बस का पीछा किया अपनी कार और एक बाइक से किया जिसके बाद महेंद्रगढ़ बस स्टैंड पर उसका अपहरण कर लिया.

पुलिस में दर्ज छात्रा के बयान के मुताबिक जब वह कोचिंग सेंटर जाने के लिए बस में सुबह 7 बजे चली थी और 8.15 बजे वह कनिना बस स्टैंड पर पहुंच गई थी. जहां उसकी मुलाकात अपने पुराने जानने वाले लड़के पंकज और मनीष से हुई जिन्होंने उसे पीने के लिए पानी दिया जिसमें नशीला पदार्थ मिलाया हुआ था. पानी पीने के कुछ ही देर बाद उसको नशा होने लगा जिसके बाद वो छात्रा को अगवाकर युवक महेन्द्रगढ़ जिले की सीमा से दूर झज्जर जिले के एक खेत में बने कुएं के पास लेकर गए जहां पहले से ही और लोग भी मौजूद थे. छात्रा के बयान के मुताबिक वो उसे एक घर में ले गए जहां कई और लोग पहले से ही मौजूद थे. वहां पहुंच कर उन वहां मौजूद सभी लोगों ने उसके साथ कथित रूप से लगातार आठ घंटे तक बलात्कार किया जिसके बाद शाम पांच बजे उसे उसी बस स्टैंड पर छोड़ दिया था.

नशे की हालत में छात्रा बेसुध होकर वहीं पड़ी थी जिसके बाद आरोपी मनीष ने उसके पिता को फोन कर उसके बेहोश पड़े होने की जानकारी दी. आरोपी मनीष उसके पिता के पहुंचने तक वहीं मौजूद था. जिसके बाद वो वहां से फरार हो गया. इस मामले पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टकर ने कहा कि पुलिस अपना काम कर रही है दोषी किसी भी हालत में बचेंगे नहीं.

सीबीएसई टॉपर रही छात्रा के साथ गैंगरेप की इस शर्मनाक घटना से पूरे गांव में रोष व्यापत है. दूसरी तरफ जिला अस्पताल में पीड़िता का इलाज चल रहा है जहां डॉक्टरों की पूरी टीम छात्रा के स्वास्थ्य और हालत की निगरानी कर रही है इसके अलावा छात्रा की सुरक्षा के लिए अस्पताल के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है. शुक्रवार को जारी हुए मेडिकल बुलेटिन में डॉक्टरों ने छात्रा के साथ गैंगरेप की जाने की पुष्टि की है.

गैंगरेप पीड़िता की मां ने रविवार को चौंकाने वाला खुलासा किया है. उन्होंने बताया कि शनिवार को कुछ अधिकारी मुआवजे के तौर पर उन्हें देने के लिए राहत राशि का चेक लेकर आए थे. उन्होंने चेक वापस कर दिया. पीड़िता की मां ने कहा, ‘हमें इंसाफ चाहिए, पैसे नहीं.’ बताते चलें कि गैंगरेप की घटना को 5 दिन हो गए हैं लेकिन अभी तक पुलिस किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है.

रेवाड़ी गैंगरेप पर बोलीं बीजेपी विधायक प्रेमलता- बलात्कार की वजह युवाओं की बेरोजगारी

गैंगरेप के बाद हरियाणा की CBSE टॉपर की हालत बदतर, मां ने लगाई न्याय की गुहार

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर