उत्तर प्रदेश. Singhu Border murder : एक साल से भी ज़्यादा वक़्त से चला आ रहा किसान आंदोलन धीरे-धीरे जनता के बीच विवाद का विषय बनाता चला जा रहा है. एक और किसान राजधानी समेत देश की तमाम जगहों पर लगातार धरना और विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. वहीं, सरकार भी तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं लेना चाहती. किसान और सरकार की इस उठा-पटक के बीच आंदोलन में हिंसा ने अपनी जगह बना ली है.

सिखों पर लगाया जा रहा हत्या का आरोप

मामला गाज़ीपुर बॉर्डर का हो या फिर लखीमपुर हिंसा कांड ये वे तमाम जगह है जहां इस आंदोलन ने बेगुनाह किसानों की निर्ममता से जान ले ली है. इसी क्रम में आज सिंघु बॉर्डर पर आंदोलनकारियों के मंच के पास युवक की बड़ी ही बेरहमी से हत्या कर दी गई. आज सुबह ही युवक का शव बरामद हुआ है और हत्या का आरोप निहंग सिखों पर लगाया जा रहा है, युवक की पहचान बलवीर सिंह के रूप में हुई है.

संयुक्त किसान मोर्चा ने निहंग सिखों पर लगाया हत्या का आरोप

बता दें कि किसान संयुक्त किसान मोर्चा ने सिंघु बॉर्डर पर युवक की हुई बेरहमी से हत्या का आरोप निहंग सिखों पर लगाया है. इस पर किसान नेता बलवीर सिंह राजेवाला का बयान भी सामने आया है. जिसमें उन्होंने कहा है कि इस घटना के पीछे निहंग सिख हैं, उन्होंने इस बात को भी मान लिया है. निहंग सिख ने आंदोलन कर शुरुआती दिनों से ही हमारे लिए समस्या खड़ी कर रखी है.

यह भी पढ़ें :

JEE Advanced result 2021 declared : जेईई एडवांस का रिजल्ट आउट, मृदुल अग्रवाल ने किया टॉप

Gati Shakti Master Plan 2021 गति से शक्ति मास्टर प्लान लॉन्च, उद्योगों को मिलेगी संजवनी, युवाओं को मिलेगा रोजगार