बॉलीवुड डेस्क, मुंबई. अभिनेता श्रीराम लागू का 92 साल की उम्र में निधन हो गया. श्रीराम लागू ने पुणे के एक निजी अस्पताल में मंगलवार शाम अंतिम सांस ली. श्रीराम लागू 100 से ज्यादा हिंदी और मराठी फिल्मों में काम कर चुके हैं. मराठी रंगभूमि में यह जाना पहचाना नाम है.

डॉक्टर से बने कलाकार-
श्रीराम लागू का जन्म महाराष्ट्र के सतारा जिले में 1927 में हुआ था. उन्होंने पुणे के बीजे मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की डिग्री भी प्राप्त की थी. लागू एक ईएनटी चिकित्सक भी थे.

स्कूल और कॉलेज लाइफ में श्रीराम लागू को थियेटर का बड़ा शौक था. पढ़ाई के साथ-साथ वे रंगमंच पर अभिनय भी करते थे. पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने पुणे में अपनी प्रैक्टिस जारी रखी. इसके बाद वे तंजानिया चले गए और बतौर चिकित्सक काम किया.

हालांकि श्रीराम लागू का मन थियेटर में ज्यादा लगता था इसलिए वे भारत लौट गए. 1969 से वे पूरी तरह अभिनय में कूद पड़े और मराठी स्टेज ड्रामा में एक्टर बन गए. अपने अभिनय करियर के शुरुआती दौर में उन्होंने वसंत कनेटकर के ओशालाल मृत्यु नाटक में अभिनय किया.

थियेटर आर्टिस्ट से फिल्मी करियर तक का सफर-
1970 के दशक में श्रीराम लागू ने मराठी रंगमंच जगत में अपने अभिनय से अच्छी पहचान बना ली थी. इसका फायदा भी उन्हें मिला और मराठी फिल्मों में काम मिल गया. श्रीराम लागू ने सिंहासन, पिंजरा, सामना जैसी मराठी फिल्मों में काम किया.

श्रीराम लागू का बॉलीवुड करियर-
श्रीराम लागू ने मराठी फिल्मों के साथ-साथ हिंदी फिल्मों में भी अभिनय करना शुरू कर दिया. उन्होंने कई 1970-80 के दशक में कई हिट फिल्मों में अभिनय किया. 1976 में आई हेराफेरी और चलते चलते के अलावा बारूद, इनकार, नया दौर, शालीमार, तराना, खुद्दार, सिंहासन जैसी फिल्मों में सपोर्टिंग रोल किए.

मिल चुके हैं कई अवार्ड-
अपने अभिनय की बदौलत श्रीराम लागू को कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं. 1978 में उन्हें घरौंदा फिल्म के लिए फिल्मफेयर बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर के अवार्ड से नवाजा गया था. 1997 में मध्य प्रदेश सरकार ने श्रीराम लागू को कालीदास सम्मान मिला. इसके अलावा उन्हें अन्य कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया.

ये भी पढ़ें- 

मौसमी चटर्जी की बेटी पायल सिन्हा का निधन, लंबे समय से थीं डायबिटीज का शिकार

प्रियदर्शन की फिल्म हंगामा 2 में मिजान जाफरी आएंगे नजर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App