मुंबई. 21 अक्टूबर को होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव से पहले शिवसेना के लिए एक बड़ा झटका लगा है. शिवसेना के 26 नगरसेवक और पार्टी के लगभग 300 कार्यकर्ता अपना इस्तीफा दे चुके हैं. आगामी चुनावों के लिए सीटों के बंटवारे पर नाखुशी का हवाला देते हुए, शिवसेना के 26 नगरसेवकों और पार्टी के लगभग 300 कार्यकर्ताओं ने पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को अपना इस्तीफा भेज दिया है. खबरों के मुताबिक, ये कॉर्पोरेटर और कार्यकर्ता कल्याण (पूर्व) क्षेत्र के हैं. उन्होंने पार्टी के बागी उम्मीदवार धनंजय बोदरे के समर्थन में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को अपना इस्तीफा सौंप दिया. विधानसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार गणपत गायकवाड़ का समर्थन करने के आदेश के बाद स्थानीय शिवसेना कार्यकर्ता कथित रूप से नाराज हैं.

गणपत कालू गायकवाड़ कल्याण पूर्व विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं और उनका नाम भाजपा द्वारा जारी पहली सूची में है. स्थानीय शिवसेना कार्यकर्ता चाहते थे कि पार्टी इस सीट पर चुनाव लड़े, लेकिन यह सीट बंटवारे की व्यवस्था में भाजपा के पास चली गई. मंगलवार को शिवसेना के वरिष्ठ नेताओं ने एक बैठक बुलाई और कार्यकर्ताओं को गायकवाड़ का समर्थन करने का निर्देश दिया. जबकि भाजपा-शिवसेना का गठबंधन महाराष्ट्र में कांग्रेस या राकांपा से किसी भी चुनौती का सामना करने वाला नहीं है, लेकिन शिवसेना के नेताओं के इस इस्तीफे से विधानसभा चुनाव से पहले गठबंधन को परेशानी हो सकती है.

इस महीने की शुरुआत में, नवी मुंबई में 200 से अधिक शिवसेना कार्यकर्ताओं ने भाजपा को दी जा रही ऐरोली और बेलापुर सीटों पर इस्तीफा दे दिया था. एनसीपी रक्षक गणेश नाइक के बेटे संदीप नाइक को बीजेपी ने ऐरोली सीट से टिकट दिया था. नवी मुंबई क्षेत्र में पारंपरिक रूप से मजबूत गणेश नाइक और शिवसेना के बीच एक चुनावी लड़ाई देखी गई है. वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा के लिए चुनावी राज्यों में सबसे बड़े प्रचारक हैं और हरियाणा में चार रैलियां करेंगे, उसके बाद महाराष्ट्र में नौ रैलियां करेंगे. महाराष्ट्र में नौ रैलियों में से, दो प्रमुख रैलियां 17 अक्टूबर को सतारा और पुणे में होंगी. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पश्चिमी राज्य में 18 रैलियां करेंगे.

Also read, ये भी पढ़ें: Ramdas Athawale on Supporting BJP-Shivsena Alliance: बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को समर्थन देने पर रामदास अठावले ने दी सफाई, कहा- कोई और विकल्प ही नहीं

Rahul Gandhi Case Hearing in Surat Court: कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज सूरत कोर्ट में होंगे पेश, मोदी नाम पर टिप्पणी करने के खिलाफ है केस

DM Imposes 5000 Fine On Himself: महाराष्ट्र के बीड जिले के डीएम ने प्लास्टिक कप से पी चाय, फिर पत्रकार ने टोका तो खुद पर ठोका 5 हजार रुपये का जुर्माना

Aarey Protest Supreme Court Verdict: महाराष्ट्र के मुंबई आरे जंगल में पेड़ कटाई पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक, 21 अक्टूबर को अगली सुनवाई, कोर्ट बोला- 1 पर्सेंट भी गलत हुआ तो गैरकानूनी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App